अंबाला रोड़ स्थित मोबाईल दुकान में सेंधमारी करते हुए लाखों रुपए मूल्य की संपत्ती चुराने के मामले में आरोपी की बैंक पासबुक तथा एटीएम बरामद कर आरोपी का बैंक एकांऊट सीज

0
517

कैथल, 29 जनवरी (कृष्ण गर्ग)
8 जनवरी को सुबह के समय अंबाला रोड़ स्थित मोबाईल दुकान में सेंधमारी करते हुए लाखों रुपए मूल्य की संपत्ती चुराने के मामले में पुलिस रिमांड पर चल रहे आरोपी की निशानदेही पर सीआईए-टू पुलिस द्वारा मोतीहारी बिहार से 20 हजार रुपए नकदी, आरोपी की बैंक पासबुक तथा एटीएम बरामद कर आरोपी का बैंक एकांऊट सीज करवाया गया है, जिसमें चोरीशुदा एक लाख 50 हजार रुपए नकदी जमा की गई थी। आरोपी के कब्जा से उसके हिस्से में आए चोरीशुदा 20 स्मार्ट मोबाइल फोन पहले ही बरामद किए जा चुके है, तथा वारदात में लिप्त शेष आरोपियों की सरगर्मी से तलाश की जा रही है, जिन्हे शिघ्र काबु कर लिया जाएगा। व्यापक पूछताछ उपरांत आरोपी 29 जनवरी को अदालत में पेश कर दिया गया, जहां से उसे न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।
पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम ने जानकारी देते हुए बताया कि सीआईए-2 ईजार्ज सबइंस्पैक्टर सत्यवान की अगुवाई में सहायक उपनिरिक्षक उज्जवल सिंह की टीम द्वारा गिरफ्तार किये गए आरोपी बिंदेश्वरी साह निवासी घोडासहन हाल निवासी जानपुल चौंक मोतीहारी को साथ लेकर मोतीहारी स्थित कमरा के बक्शा से आरोपी बिंदेश्वरी की बैंक ऑफ बडौदा शाखा मोतिहारी की पासबुक, एक एटीएम तथा 20 हजार रुपए के कंरसी नोट बरामद किये गए है। पुलिस द्वारा वारदात में लिप्त अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए आरोपी बिंदेश्वरी को साथ लेकर मोतीहारी,, घोडासहन, पुर्वी चंपारण तथा बैहरी ग्राम सीतामडी में दबिश दी गई, परंतु आरोपी काबु नहीं आ सके। सीआईए-टू पुलिस द्वारा की गई पूछताछ दौरान आरोपी ने कबूला कि उसके हिस्से चोरीशुदा 20 मोबाइल फोन व एक लाख 95 हजार रुपए नकदी, शम्भूप्रसाद के हिस्से 15 मोबाइल व 4 लाख रुपए, पवन कुमार उर्फ तेरेनाम के हिस्से 19 मोबाइल व 5 लाख रुपए नकदी तथा राजुदास के हिस्से15 मोबाइल व 4 लाख रुपए नकदी आई थी। आरोपी विंदेश्वरी द्वारा एक लाख 50 हजार रुपए अपने बैंक एकाऊंट में जमा करवा दिए गये, तथा इस मध्य वह 45 हजार रुपए नकदी खर्च कर चुका था। विदित रहे कि आरोपी बिंदेश्वरी को सीआईए पुलिस द्वारा 22 जनवरी को छतौनी चौंक मोतीहार (बिहार) से काबू कर उसके कब्जा से 20 चोरीशुदा स्मार्ट फोन बरामद कर लिये गए थे, तथा आरोपी का अदालत से 29 जनवरी तक 6 दिन के लिए पुलिस रिमांड हासिल किया गया था। बता दें कि अज्ञात व्यक्ति दिनांक 8 जनवरी की सुबह राजेंद्रा सेठ कालोनी निवासी कृष्ण गर्ग की अंबाला रोड़ कैथल नजदीक आरकेएसडी कॉलेज स्थित शिव कम्युनिकेशन मोबाईल शॉप के ताले तोड़कर दुकान में रखी करीब 15 लाख रुपए नकदी व 69 स्मार्ट मोबाइल फोन चुरा ले गए। वारदात की गंभीरता को देखते हुए मामले की जांच सीआईए-टू पुलिस के सुपर्द कर अभियोग को शिघ्रातिशिघ्र सुलझाने के आदेश दिए गये थे। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि 4 सदस्यीय चोर गिरोह बेहद चालाक बताया गया है, जिसने पूर्ण योजनाबद्ध तरीके द्वारा बडे शातिराना तरीके द्वारा चोरी की वारदात को अंजाम दिया।
पुलिस अधीक्षक ने बताया कि मकानों व दुकानों में चोरी की वारदात को अंजाम देना वाला नेपाल के सीमावर्ती गांव घोडासहन निवासी यह शातिर चोर गिरोह दिनांक 6 जनवरी को अंबाला रेलवे स्टेशन पहुंचा, जो अगली सुबह बस द्वारा सफर कर सभी आरोपी कैथल पहुंच गये तथा सारा दिन कैथल शहर की मार्किट में रात को चोरी करने के लिए मोबाइल दुकानों की जांच करते रहे, तथा इसी दौरान उन्होनें अंबाला रोड़ स्थित शिव कम्यूनिकेशन के नाम से मोबाइल फोन शॉप उनकी निगाह में चढ गई। चारो आरोपी 7 जनवरी के दिन मोबाइल खरीदने के बहाने दुकान में गए, तथा मोबाइल पसंद ना आने के बहाने वापिस आ गये, परंतु इस मध्य उनके सदस्यों द्वारा द्वारा योजनाबद्ध तरीके से चद्दर की आड करते हुए शोरुम में मौजूद दुकानदार व अन्य व्यक्तियों से नजर बचाकर दुकान व शटर के मध्य ग्लास में लगने वाले लॉक में फैवीक्वीक डाल दी, ताकी शीशे का लॉक न लग सके, ताकी वारदात के समय शीशा टूटने कारण शोर शराबा ना हो, तथा सभी शातिर सदस्य वापिस अंबाला चले गए। रात के समय अंबाला से कटर आदी खरीदकर सभी आरोपी टैक्सी द्वारा कैथल आए, तथा बडे ही शातिराना तरीके द्वारा चद्दर द्वारा आड करते हुए शटर के लॉक काटकर दुकान में प्रवेश कर वापिस शटर बंद कर दिया, तथा इस दौरान उनका सदस्य बाहर भी निगरानी करता रहा। गिरोह के सदस्यों द्वारा दुकान के अंदर सीसीटीवी डीवीआर चुराने का भी प्रयास किया गया। चोरी की उपरोक्त वारदात को 8 जनवरी की सुबह करीब 4 से 5 बजे मध्य अजांम देने उपरांत सभी आरोपी पेहवा चौंक कैथल से थ्रिव्हीलर द्वारा बस अड्डा पहुंच बस द्वारा वापिस अंबाला चले गए, जहां से ट्रेन द्वारा गोरखपुर बिहार पहुंचकर चोरीशुदा संपत्ती का बंटवारा किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here