अधिकारी आपसी तालमेल एवं संयम से लोगों की समस्याओं का करें समाधान-ढांडा


सभी अधिकारी गंभीरतापूर्वक एवं ईमानदारी से अपने दायित्वों का निर्वहन करें: महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री कमलेश ढांडा
अधिकारी आपसी तालमेल एवं संयम से लोगों की समस्याओं का करें समाधान, कार्यालयों में आम जनता को दिया जाए पूरा मान-सम्मान : कमलेश ढांडा
कैथल, 28 नवंबर (कृष्ण गर्ग)
हरियाणा की महिला एवं बाल विकास, अभिलेखागार राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने सभी विभागों के अधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि वे आम जनता से जुड़े कार्यों को संयम एवं प्राथमिकता के आधार पर पूर्ण करें। अधिकारी जनता की शिकायतों को गंभीरतापूर्वक निपटाएं तथा आम जनता को कार्यालयों में पूरा मान-सम्मान दें। सरकार की जन कल्याणकारी नीतियों का ईमानदारी से क्रियांवयन करते हुए उन्हें आम लोगों तक पहुंचाएं।
राज्यमंत्री कमलेश ढांडा स्थानीय लघु सचिवालय स्थित सभागार में कैथल के विधायक लीला राम के साथ अधिकारियों की प्रथम बैठक की अध्यक्षता कर रही थी। इससे पूर्व उन्होंने लघु सचिवालय परिसर में बेटी बचाओ-बेटी पढाओ के हस्ताक्षर पट पर हस्ताक्षर किए। राज्यमंत्री ने सभी अधिकारियों का परिचय प्राप्त करने के बाद निर्देश देते हुए कहा कि सभी अधिकारी संयम एवं आपसी बेहतर तालमेल के साथ कार्य करें। सरकार द्वारा जनकल्याण हेतू क्रियांवित की जा रही विभिन्न योजनाओं को जमीनी स्तर तक ले जाकर लोगों को इनका लाभ प्रदान करें ताकि सरकार के जनकल्याण के उद्देश्य की पूॢत हो सके। उन्होंने कहा कि विभिन्न कार्यालयों में आने वाली आम जनता के साथ अच्छा व्यवहार किया जाए तथा उन्हें पूरा मान-सम्मान दिया जाए। लोगों की शिकायतों का प्राथमिकता के आधार पर निपटारा किया जाए ताकि उन्हें बार-बार चक्कर न काटने पड़ें। उन्होंने कहा कि कोई भी अधिकारी अपने कार्य में कोताही व लापरवाही न बरतें तथा सरकार की कल्याणकारी नीतियों को गंभीरता से लागू करें। सरकार द्वारा कोताही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री ने कहा कि उन्हें प्रदेश में महिलाओं एवं बच्चों के सम्पूर्ण विकास की जिम्मेवारी सौंपी गई हैं, जिसे वे ईमानदारी पूर्वक निभाएंगी। उन्होंने कहा कि हलका कलायत व जिला कैथल ही उनका परिवार है तथा वे पूरे प्रदेश की महिलाओं व बच्चों के सम्पूर्ण विकास के लिए हमेशा प्रयासरत रहेंगी। उन्होंने कहा कि आम जनता की सरकार से बहुत अपेक्षाएं होती हैं तथा एक जन कल्याणकारी सरकार का उद्देश्य भी जनता का कल्याण होता है। सरकार द्वारा जन कल्याण को मद्देनजर रखते हुए नीतियां व कार्यक्रम बनाए जाते हैं ताकि गरीब से गरीब व्यक्ति का कल्याण हो सके। उन्होंने सभी अधिकारियों को स्पष्टï निर्देश देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा यह निर्देश दिए गए हैं, कि जन कल्याण की नीतियों के क्रियांवयन में किसी प्रकार की कोताही बर्दाश्त न करें। उन्होंने कहा कि अधिकारी अपने दायित्वों का ईमानदारी पूर्वक व गंभीरता से निर्वहन करें।
उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री का अधिकारियों की प्रथम बैठक में पहुंचने पर स्वागत किया तथा आश्वस्त किया कि जिला प्रशासन द्वारा आम जनता के कल्याण हेतू सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न नीतियों एवं योजनाओं को जनता तक पहुंचाया जाएगा तथा जिला वासियों की समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर निपटारा सुनिश्चित किया जाएगा। इस अवसर पर कैथल के विधायक लीला राम, पुलिस अधीक्षक विरेंद्र विज, अतिरिक्त उपायुक्त राहुल हुड्डïा, उपमंडलाधीश कमलप्रीत कौर, नगराधीश शशी वसुंधरा, भाजपा के जिलाध्यक्ष अशोक गुर्जर ढांड, तुषार ढांडा, उत्तर हरियाणा बिजली वितरण निगम के अधीक्षक अभियंता बीएस रंगा, जन स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षक अभियंता देवी लाल, काडा के अधीक्षक अभियंता एके रघुवंशी, जिला राजस्व अधिकारी सुरेश कुमार, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी जसविंद्र सिंह, सिविल सर्जन डॉ. एसके नैन, जिला शिक्षा अधिकारी बिजेंद्र नरवाल सहित विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारी एवं कर्मचारी मौजूद रहे।

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply