अनाज मंडी क्षेत्र के लोगों ने की मुख्यमंत्री से मंडी अनाज मंडी में रोड शो निकालने की मांग।

0
335

अनाज मंडी क्षेत्र के लोगों ने की मुख्यमंत्री से मंडी अनाज मंडी में रोड शो निकालने की मांग।
प्रदूषण, गम्भीर बीमारियों, नशा खोरी, बंधवा मजदूरी, अवैध कब्जा, जाम तथा किसानों के साथ ठगी से ग्रस्त है, अनाज मंडी।
कैथल, 28 नवंबर(कृष्ण गर्ग)
कैथल की अनाज मंडी क्षेत्र के लोगों ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर से अपने कैथल के रोड शो के दौरान अपना रोड़ शो अनाज मंडी के अंदर करके स्थिति का जायजा लेने की मांग की है। समाज सेवी लाजपत सिंगला, कृष्ण लाल, ओमप्रकाश, रमेश चंद आदि लोगों ने बताया कि मंडी व आसपास के क्षेत्रों में प्रदूषण के कारण लोगों का जीना दुर्भर हो गया है। मंडी में किसान फुंस वाली अपनी फसल लेकर आते है। जिसकी सफाई बड़े- बड़े पराठों के द्वारा की जाती है। जिसकी तेज हवा के कारण फसल में से निकलने वाले बारीक मिट्टी के कण दुर- दुर तक चले जाते है। मंडी के अंदर तो कई बार एक दूसरे इंसान को देखना दुर्भर हो जाता है। किसान अपनी फसल में अनेक कीट नाशक दवाईयां डालता है। इस दवाई के जहरीले कण फसल में होते है और पराठों से सफाई होने से वह दुर- दुर तक कण फैल जाते है। जिससे आंखों की रोशनी का जाना, कैंसर, अस्थमा, खुजली, अदरंग आदि अनेक बीमारियों से लोग ग्रस्त हो रहे है। कई लोग तो मौत की गिरफ्त में जा चुके है और कई अपनी आंखों की रोशनी खो चुके है। उन्होंने मंडी में किसानों की फसल की सफाई में प्रयोग होने वाले पंखों को बंद करवाने की मांग की है।
मंडी के अंदर विशेष समुदाय के लोग बंधवा मजदूरी कर रहे है। मंडी के अंदर लगभग 500 दुकानें है। आढ़तियों की दुकानों व मकानों में सफाई आदि सभी घरेलू कार्य ये लोग बिना किसी पैसे के फ्री में करते है। इनकी संख्या कोई एक दो नही अपितु हजारों में है। ये हजारों लोग इस फ्री में काम करने के बदले में किसानों की फसल में से निकलने वाले फुंस को साफ करके लेते है। इसके साथ- साथ ये लोग किसानों की फसल के दाने भी फुंस में छिपा लेते है। इस चोरी से किसानों को प्रति सीजन कई करोड़ों का नुकसान कैथल की मंडी में होता है। सरकार को चाहिये कि मार्केट कमेटी व सरपंचों के माध्यम से मंडी में अपनी फसल साफ करके लेकर आने के लिये गांवों में मुनादी के द्वारा जागृत करना चाहिये।
राम नारायाण, सरेश कुमार ने बताया कि मंडी के चारों ओर सड़कों पर अवैध कब्जे है। लोगों ने सड़कों पर ही अपनी दुकानें बनाई हुई है। उनके पास से हमेशा हर रोज जिला प्रशासनिक अधिकारी निकलते है और सब कुछ देख कर चुपके से निकल जाते है। जाखौली अड्डा से ट्रक यूनियन के सामने वाला रास्ता तो अकसर जाम रहता है। यह दो मार्गियां होने बाद भी यह एक मार्गिय भी नही है। मंडी के चारों और शराब, मांस व नशा खाुरी की वस्तुयें खुले रूप से बिकती है।
फोटो सहित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here