आमजन की रक्षा कौन करेगा, जब रक्षक ही भक्षक बन जाए ?

0
406

कैथल, 25 जनवरी, कृष्ण गर्ग
हरियाणा के कैथल जिले में रेलवे पुलिस के एक कर्मचारी ने विभाग को शर्मसार करने वाली हरकत की है। लेकिन जब रक्षक ही भक्षक बन जाए तो आमजन की रक्षा कौन करेगा? हालांकि सरकार का प्रयास रहता है कि महिलाओं के खिलाफ होने वाले अपराधों पर अंकुश लगाया जाए, लेकिन बीच-बीच में कुछ ऐसी घटनाएं भी हो जाती हैं, जिनसे पूरा समाज शर्मसार हो जाता है। इसी प्रकार के घटना कैथल में भी घटित हुई। एक रेलवे पुलिस कर्मचारी द्वारा ट्रेन के बाथरूम में महिला के साथ गंदी हरकत करने का प्रयास किया गया। महिला ने शोर मचा दिया। शोर सुनने के बाद ट्रेन में यात्रा कर रहे लोगों ने बाथरूम का दरवाजा खोल कर महिला की अस्मत को लूटने से बचाया। वहीं रेलवे पुलिस कर्मचारी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया गया।
प्रत्यक्षदर्शी अंकित ने बताया कि उन्हें महिला के चीखने की आवाज सुनाई दी तो बाथरूम का दरवाजा जबरन खुलवाया गया। अंदर से शराब के नशे में एक पुलिस कर्मचारी और महिला को निकाला गया। महिला का कहना था कि आरोपी पुलिस कर्मचारी उसके साथ जबरन गंदी हरकत करने का प्रयास कर रहा था।

पहले पकोड़े खिलाए, फिर बाथरूम में ले गया
पीडि़त महिला उषा ने बताया कि पुलिस कर्मचारी ने पहले रेलवे स्टेशन पर उसको पकोड़े खिलाए और फिर चलती ट्रेन में जबरन उसे बाथरूम में लेकर गया, जहां पर उसके साथ गंदी हरकत करने का प्रयास किया गया।

यात्रियों ने मुझे थप्पड़ मारे
आरोपी पुलिस कर्मचारी जसवंत सिंह ने अपना पक्ष रखते हुए कहा है कि वह बाथरूम में गया था और उसके पीछे पीछे महिला भी बाथरूम में घुस गई। अब खुद ही कह रही है कि छेड़ रहे हैं। यात्रियों ने मुझे थप्पड़ मारे।

कर्मचारी को हिरासत में लिया
रेलवे पुलिस के जांच अधिकारी नरेश कुमार का कहना है कि उनको ट्वीट के माध्यम से सूचना मिली थी। सूचना मिलते ही वे कैथल रेलवे स्टेशन पहुंचे और उक्त कर्मचारी को हिरासत में ले लिया। मेडिकल करवाकर नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। सूचना अधिकारियों को दे दी गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here