ई-गिरदावरी के आदेशों की उल्लंघना करने वाला पटवारी तुरंत प्रभाव से निलंबित,

0
409


हरियाणा सरकार के ई-गिरदावरी के आदेशों की उल्लंघना करने वाले खरक पांडवा के पटवारी राकेश को तुरंत प्रभाव से किया निलंबित, एक सप्ताह में जिला में ई-गिरदावरी के आंकड़े किए जाएं अपलोड : उपायुञ्चत डॉ. प्रियंका सोनी
तितरम, खरक पांडवा, माघो माजरी की गिरदावरी की उपायुञ्चत ने की पड़ताल।

कैथल, 11 अप्रैल (कृष्ण गर्ग)
उपायुञ्चत डॉ. प्रियंका सोनी ने हरियाणा सरकार के ई-गिरदावरी के आदेशों की उल्लघंना करने वाले खरक पांडवा के पटवारी राकेश को तुरंत प्रभाव से निलंबित करने के निर्देश दिए। उन्होंने जिला राजस्व अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि जिला में सभी पटवारी एक सप्ताह में ई-गिरदावरी के तहत टैब के माध्यम से गिरदावरी का डाटा अपलोड करना सुनिश्चित करें।
डॉ. प्रियंका सोनी जिला राजस्व अधिकारी सुरेश कुमार तथा अन्य अधिकारियों के साथ जिला केे विभिन्न गांवों में गिरदावरी की पड़ताल कर रही थी। उन्होंने खरक पांडवा गांव की गिरदावरी की पड़ताल करते समय मौके पर मौजूद पटवारी राकेश को टैब के माध्यम से की जाने वाली ई-गिरदावरी का डैमो दिखाने को कहा, जो इसमें विफल रहे। इस दौरान उपायुञ्चत के संज्ञान में आया कि पटवारी द्वारा ई-गिरदावरी के आदेशों की उल्लंघना की गई है तथा पारक्वपरिक ढंग से ही गिरदावरी की गई है। डॉ. प्रियंका सोनी ने डियूटी में इस कोताही का कड़ा संज्ञान लेते हुए जिला राजस्व अधिकारी को निर्देश दिए कि वे खरक पांडवा के पटवारी राकेश को तुरंत प्रभाव से निलंबित करें। उन्होंने खरक पांडवा निवासियों की कीचड़ से भरी गली की सफाई करवाने के अनुरोध पर मौके पर जाकर गली में जल भराव का निरीक्षण किया तथा ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि वे यथाशीघ्र इस समस्या का समाधान करवाएंगी।
इससे पूर्व डॉ. प्रियंका सोनी ने तितरम गांव की गिरदावरी की पड़ताल की तथा मौके पर मौजूद ग्रामीणों से पटवारी की उपलद्ब्रधता के बारे में जानकारी हासिल की। उन्होंने मौके पर विभिन्न खेतों की रजिस्टर में दर्ज गिरदावरी की पड़ताल की तथा संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए कि वे सरकार की हिदायतों अनुसार ई-गिरदावरी के कार्य को पूर्ण करें। इसके उपरांत उन्होंने माघो माजरी तथा पट्टïी खौत के खेतों में जाकर राजस्व विभाग द्वारा दर्ज की गई गिरदावरी की पड़ताल की तथा संबंधित अधिकारियों को गिरदावरी बारे आवश्यक दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि विभाग द्वारा एक सप्ताह में ई-गिरदावरी का डाटा अपलोड करवाना सुनिश्चित किया जाए।
इस मौके पर कलायत के उपमंडलाधीश अनिल नागर, जिला राजस्व अधिकारी सुरेश कुमार, कैथल के तहसीलदार छोटू राम, संबंधित गांवों के सरपंच, नंबरदार तथा गणमान्य व्यञ्चितयों सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।
फोटो: 1- उपायुञ्चत डॉ. प्रियंका सोनी विभिन्न गांवों में राजस्व अधिकारियों के साथ गिरदावरी की पड़ताल करते हुए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here