किसान इस सरकार में कुछ ज्यादा ही संकट झेल रहे

0
203

कैथल, 3 अक्तूबर(कृष्ण गर्ग)
भारतीय किसान यूनियन के बैनर तले निकाले जा रहे किसान मार्च पर दिल्ली की सीमा में प्रवेश करते समय वॉटर कैनन के इस्तेमाल और आंसू गैस के गोले छोड़े जाने पर सर्वजातीय सर्वखाप महिला महापंचायत की अध्यक्ष डा. संतोष दहिया ने बीजेपी सरकार पर निशाना साधा है। वे ताऊ देवीलाल जयंती के उपलक्ष्य में रविवार 7 अक्तूबर को गोहाना में आयोजित होने वाले सम्मान समारोह के लिए न्योता देने फरल व नरड़ आदि गांवों में पहुंची थी।
प्रोफेसर संतोष दहिया ने कहा कि कर्ज माफी से लेकर इंधन के दामों में कमी की मांगों को लेकर भाकियू के आह्वान पर विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को दिल्ली-उत्तर प्रदेश सीमा पर मंगलवार को रोक दिया गया। पुलिस ने उन्हें तितर-बितर करने के लिए पानी की बौछार की और आंसू गैस के गोले छोड़े। उन्होंने कहा कि यूं तो भाजपा की केंद्र व राज्य सरकारों की गरीब व किसान-विरोधी गलत नीतियों से समाज का हर वर्ग बहुत अधिक दु:खी व पीडि़त है, लेकिन किसान इस सरकार में कुछ ज्यादा ही संकट झेल रहे हैं। किसानों पर पुलिस लाठीचार्ज की निंदा करते हुए उन्होंने कहा कि यह भाजपा सरकार की बर्बरता की पराकाष्ठा है, जिसका खामियाजा भुगतने के लिए उसे आगामी चुनाव में तैयार रहना चाहिए। किसानों की आय दोगुना करने की बजाय भाजपा सरकार निहत्थे व निर्दोष किसानों पर पुलिस से लाठियां चलवा रही है। मौजूद लोगों से पूर्व उपप्रधानमंत्री स्व. चौ. देवीलाल की स्मृति में 7 अक्तूबर को गोहाना में होने वाली राज्य स्तरीय रैली में पहुंचने की अपील करते हुए दहिया ने कहा कि भाजपा नेताओं ने बीते चुनाव में स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट लागू करने, महंगाई पर काबू पाने, पेट्रोल-डीजल व रसोई गैस सिलेंडर को सस्ता करने सहित कई वादे किए थे। भाजपा ने सत्ता के करीब चार साल बीत जाने के बाद अपने चुनावी वादे पूरे नहीं किए हैं। इतना ही नहीं जब अपनी मांगों को लेकर किसान, कर्मचारी या अन्य वर्ग सड़कों पर आता है तो उन पर अत्याचार किया जा रहा है। उनके साथ जसवीर सिंह, गुरमीत सिंह, गुरबख्श सिंह, चंद्रभान जोगड़ा खेड़ा, जोगिंद्र सिंह, बलविंदर सिंह, दिलबाग सिंह, मेजर राणा, जगदीश जग्गा, जॉनी राणा, बोहड़ सिंह, पिपल सिंह, कीकर सिंह, कमला, कलावती, चंद्रपति, नीलम, राजपति, लाभो देवी, साबो, सत्या, सरोज, सोनिया, सुनीता व बिमला आदि ने भी किसानों पर हुए लाठीचार्ज की निंदा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here