कृषि मंत्री ने किसानों के विरोध से डरते किया मंडी का दौरा, खरीद को लेकर अधिकारियों को दिये आदेश, धान की खरीद शुरू करने का नही किसी को पता।

0
64


कैथल, कृष्ण गर्ग
फसल की प्राईवेट खरीद की अदायगी सीधी किसान के खाते में नही जायेगी, कहा कि हमें इससे कोई मतलब नही, हां हमें इसके बिकने पर टैक्स मिलना चाहिये। प्रदेश के कृषि मंत्री जे पी दलाल ने शुक्रवार को जल्दी सुबह कैथल की नई मंडी में 25 सितंबर से शुरू होने वाली किसानों की धान की खरीद का जायजा लेने आये हुये थे।
कृषि मंत्री चुपके से केवल आधे घंटे के अंतराल में ही अधिकारियों से खरीद के लिये की गई तैयारियों के बारे में जान कर चलते बने। उन्होंने कमेटी के कार्यालय में पहुंचते ही अधिकारियों से पूछा कि किसानों की धान की खरीद को लेकर क्या- क्या तैयारियां की हुई है। कैथल के एस डी एम संजय कुमार ने बताया कि जिला प्रशासन खरीद के लिये तैयार है। किसानों की सुविधा के लिये जिले का कोई भी राइस मिल खरीद एजेंसी के लिये जिले की किसी भी मंडी से खरीद कर सकता है। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के अधिकारी सोम दत्त ने उनको बताया कि खरीद को लेकर सारी तैयारियां कर ली गई है। खरीद के लिये बारदाना खरीद करने से पहले दे दिया जायेगा। मंडी में से खरीद किये गये माल को राइस मिलों के माध्यम से रात को ही उठवाया दिया जायेगा। मार्केटिंग बोर्ड के जेड एम ई ओ हवा सिंह खोबरा तथा कमेटी सचिव सतवीर राविश ने बताया कि मंडी की साफ सफाई, सड़कों को दुरस्त, बिजली पानी की सारी समस्या दुर कर दी गई है। उन्होंने मंत्री को बताया कि मंडी में सभी किस्म की धान लगभग 35 लाख क्विंटल आती है। अब की बार पी आर किस्म की धान ज्यादा आयेगी और सरकार को अधिक टैक्स मिलेगा। उन्होंने मंत्री से मांग की है कि मंडी बड़ी है और दिन के अनुसार मंडी में खरीद के लिये सप्ताह बाद खरीद का नम्बर आता है। ऐसे में किसानों व आढ़तियों के सामने समस्या आयेगी। अत: प्रत्येक खरीद एजेंसी को मंडी से हर रोज खरीद करने के आदेश दिये जाये।
एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने बताया कि धान की खरीद 25 सितंबर से तथा बाजरे आदि की खरीद एक अक्तूबर से शुरू होगी। सरकार के द्वारा खरीद के लिये व्यापक प्रबंध किये हुये है। किसान को उनकी फसल बेचने में तोलने, बेचने, बारदाना, बिजली, पानी की कोई भी समस्या नही आने दी जायेगी। किसान जैसे ही मंडी में धान लेकर पहुंचेगा तो उनको तत्काल सी सी टी वी कमरे की निगरानी में काटकर दे दिया जायेगा। कमेटी के कर्मचारी चौबीस घंटे गेटपास काटने को तैयार रहेंगे। फसल की अदायगी भी तत्काल कर दी जायेगी। उन्होंने बताया कि सरकार के द्वारा एक चैन बनी हुई है। किसान का संबंध आढ़ती से और आढ़ती का राइस मिलर से। उन्होंने कहा कि वे चंडीगढ़ जाते ही हर रोज खरीद करने के आदेश पारित करवाता हुं। इस मौके पर एसडीएम संजय कुमार मार्केटिंग बोर्ड के जेड म ई ओ हवा सिंह खोबरा, कृषि एवं कल्याण विभाग के उपनिदेशक डॉ. कर्मचंद, मार्किटिंग बोर्ड के कार्यकारी अभियंता सतपाल, सचिव सतबीर राविश, रामफल व अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

मंत्री के कमेटी से बाहर निकलते ही लगी समस्याओं की लाइन।
मंत्री ने कमेटी के अंदर उपस्थित अधिकारियों से समस्याओं को हल करने की कही तो उन्होंने एक स्वर में मंत्री को अवगत करवाया की मंडी में कोई भी समस्या नही है। जिस पर मंत्री ने कहा कि जिसे गेट से वह आये है, वहां बहुत गंदगी है। जिस पर अधिकारियों ने बताया की वह जमीन उनकी न होकर नगर परिषद् की है, परन्तु जैसे ही वह बाहर निकले तो सबसे पहले लोगों ने कैंटीन में दिन में दो बार खाना दिये जाने की मांग रखी। मंत्री ने तत्काल मार्केट कमेटी के अधिकारियों से समय बढ़ाकर सुबह 9 बजे चालू करने के आदेश दिये। उसके बाद मजदूर प्रधान बलवान के नेतृत्व में उनसे मिला और मजदूरों के विश्राम गृह की मांग रखी तो मंत्री ने अधिकारियों से यह समस्या दुर करने की कही। उसके बाद जैस ही मंत्री कार में बैठने लगा तो पास ही कीचड़ देखकर बोले की ये क्या है। इस पर अधिकारी तत्काल बोले की कल ही बरसात हुई है। जिस कारण से यहां पानी खड़ा होने से कीचड़ है। मंत्री ने कहा कि मंत्री से पानी की निकासी का प्रबंध करे। जबकि आढ़ती अपनी समस्या रखने को लेकर देखते ही रह गये।

अधिकारियों को खरीद शुरू होने का भी पता नही।
मंत्री ने बताया की धान की खरीद 25 सितंबर से शुरू कर दी जायेगी, परन्तु जिले के अधिकारियों को इस बात की जानकारी नही है। सभी अधिकारी 1 अक्तूबर से खरीद शुरू होने की कह रहे है। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के डी एफ एस सी प्रमोद शर्मा ने बताया की खरीद 1 अक्तूबर से शुरू होगी। ऊपर से अभी धान खरीद एजेंसियों की लिस्ट भी नही आई है। यह लिस्ट सोमवार 27 सितंबर को आयेंगे।
फोटो सहित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here