ग्राम पंचायत की गलती का खामियाजा पाई के ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है।

0
158


कैथल, 20 बक्तूबर(कृष्ण गर्ग)
ग्राम पंचायत पाई की गलती का खामियाजा पाई के ग्रामीणों को भुगतना पड़ रहा है। जिससे गांव के मध्य में बनने वाला सामुदायिक केंद्र(कम्यूनिटि सेंटर) गांव से काफी दूर चला गया और साथ में गांव में बीमारी भी फैल गई। ग्रामीण डी सी ढुल, महावीर,

अनिल कुमार, कृष्ण, राम मेहर, रमेश, रणबीर, महेंद्र, सोनू, विक्की, शमशेर, अशोक, मनोज, भूषण, खुशी राम, शिला, सुभाष, विकास, सत्यवान आदि ने बताया कि विधायक दिनेश कौशिक प्रयासों से गांव में सामुदायिक केंद्र मंजूर हुआ था, जो बस स्टेंड के

सामने बनना था। जिसके लिये जमीन तैयार करने के लिये तालाब का भराव किया गया और ग्राम पंचायत के द्वारा दूसरे तालाबों से जल खुम्भी निकाल कर इस तालाब में डाल कर ऊपर कुछ जगह मिट्टी डाल दी गई। जिससे इस जमीन की मिट्टी में नीचे

जल कुम्भी होने के कारण सीलन हो गई। गत कुछ दिनों पूर्व यह सामुदायिक केंद्र बनाने के लिये एक टीम पाई में आई और इस जमीन से मिट्टी का सैंम्पल लिया, जो सीलन की वजह से फैल हो गया और इस जगह पर बनने वाला सामुदायिक केंद्र का

प्लान कैंसल हो गया। अब इसकी बजाये यह केंद्र गांव से दूर बणी के पास पिलनी रोड़ पर बनना तय हुआ है।
उन्होंने बताया कि इस तालाब का भराव जल खुम्भी से करने के कारण खाली जगह पर भारी मात्रा में यह घास पैदा हो गया है और निकट के घरों में गम्भीर बीमारी फैल गई है। उन्होंने बताया कि पाई की रीना, कृष्ण कुमार जहां डेंग़ू से पीडि़त है, वही टाइफ

ाइड से दिलबाग, राजा राम, मंजीत और खुजली से मुकेश व एलिसा आदि बीमार है। उन्होंने इस तालाब की सफाई करके जल खुम्भी बाहर निकालने की मांग की है, ताकी ग्रामीण बीमारियों से बच सके।
बदल दी गई सामुदायिक केंद्र की जमीन- सरपंच
इस बारे में गांव के सरपंच धर्मवीर ने बताया कि ग्राम पंचायत के द्वारा जमीन दी गई। वहां नजदीक ही गऊशाला, स्टेडियम आदि होने के कारण इस का स्थान बदला गया।
फोटो सहित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here