चोरी तथा मारपीट के मामले में गुरुवार को आरोपी इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी न होने के चलते मंडी में पूर्ण रूप से हड़ताल

कैथल, 9 जनवरी (कृष्ण गर्ग)
चोरी तथा मारपीट के मामले में गुरुवार को आरोपी इंस्पेक्टर की गिरफ्तारी न होने के चलते मंडी में पूर्ण रूप से हड़ताल रही। जिसको लेकर मंडी स्थित लक्ष्मीनारायण मंदिर में आढ़तियों की एक बैठक भी हुई और बैठक में फैसला लिया गया कि जब तक आरोपी इंस्पेक्टर गिरफ्तार नही होता तब तक मंडी में हड़ताल जारी रहेगी। देरी होने पर पेहवा चौंक पर जाम भी लगाने से पीछे नही हटेंगे। बैठक में एक नया खुलासा भी उजागर किया गया।
विदित रहे की कुछ समय पूर्व हेफेड के इंस्पेक्टर संजीव ढुल द्वारा मंडी के आढ़ती लाल सिंह बलकार सिंह के मालिक बलकार व उसके बेटे(13) पर नई अनाज मंडी में हेफैड के द्वारा लगाये गये गेहूं के स्टाक तीन कटे मोटर साइकिल द्वारा चोरी करने को लेकर मामला दर्ज करवाया था। जबकि चोरी के आरोपी व मंडी के आढ़तियों ने इस आरोप से इंकार कर इस इंस्पेक्टर संजीव ढुल व उसके कुछ आदमियों पर षड्यन्त्र के खिलाफ फसाने व जान से मारने के इरादे से लाठियों से हमला कर उसकी टांगे तोडऩे का मामला दर्ज करवाया था। कुछ समय पूर्व भी इसी को लेकर मंडी में हड़ताल रही थी। जिस पर पुलिस विभाग के द्वारा जांच कर चोरी का मामला समाप्त करने व हेफैड के इंस्पेक्टर व उसके आदमियों के खिलाफ मामला दर्ज करने का आस वासन दिया था। कई दिन बीत जाने बाद भी आरोपी खुले आम घूम रहा है। जिस कारण से आज से उसकी गिरफ्तारी तक हड़ताल रखने को लेकर मंडी में अनिश्चितकालीन हड़ताल रखने का फैसला लिया गया। इसके साथ यह भी कहा गया कि यदि जिला पुलिस इसमें मामूली सी भी देर करती है तो पेहवा चौंक पर जाम लगाया जायेगा। मंडी के सेकड़ों आढ़तियों ने बैठक में इस मुहर लगादी।

बैठक में इस मामले को लेकर एक नया खुलासा भी हुआ।
मंडी के मंदिर में जब बैठक हो रही थी तो मंडी प्रधान कृष्ण मितल व आढ़ती बदन सिंह आर्य ने चोरी के इस मामले में एक गम्भीर खुलासा किया। उन्होंने बताया की इस इंस्पेक्टर संजीव ढुल का रवैया आढ़तियों के प्रति एक तानाशाही का रहा है और कई आढ़तियों के साथ तू- तू, मै- मै भी हो चुकी थी। इसके रवैये से सभी आढ़ती परेशान थे। बलकार नई अनाज मंडी में अपनी दुकान का निर्माण करवाया रहा है। वही पर सरकारी एजेंसियों ने अप्रैल माह में खरीद किया गया गेहूं लगाया हुआ है। गेहूं में नमी कम होने के कारण जो घटोतरी बनती है, उसको पूरा करने के लिये यह अधिकारी अपने विभाग के कर्मचारियों के साथ पानी का छिडक़ाव गेहूं पर कर रहा था। जिसकी बलकार ने विडियो बना ली थी तथा वहां पड़ पानी के पाइप भी अपने कब्जे में लेे थे। जिस से घबरा कर यह इंस्पेक्टर मंडी प्रधान कृष्ण मितल पास आकर समझौता करवाने की कही। जिस पर प्रधान ने उनके बीच समझौता करवा कर विडियो डिलिट करवा दी तथा पाइप भी दिलवा दी। उसके बाद उसको डऱ सताने लगा कि कही यह दुबारा से विडियो न बना ले, क्योंकि उसी के पास उसकी दुकान का निर्माण चल रहा है और इस हर रोज आना है। प्लान कर इसको बुलाया गया। जिस पर बलकार, अपने लडक़े जो लगभग तेरह साल का है, उसको दुकान दिखाने मंडी में गया तो उसकी व लडक़े की जम कर पिटाई कि गई।
ये रहे बैठक में उपस्थित।
जिला मंडी प्रधान अश्वनी शोरेवाला, मंडी प्रधान कृष्ण मितल, नगर परिषद पूर्व चेयरमैन राम निवास मितल, बदन सिंह आर्य, राजपाल चहल, जसमेर, पवन बंसल, ईश्वर जैन, जय किशन मान, सोहन लाल, राम नारायण आदि सहित मंडी के सेकड़ों आढ़ती।

मामले में किये गये पांच गिरफ्तार, ढुल फरार।
नई अनाज मंडी चौंकी प्रभारी राम कुमार ने बताया की इस मामले में पांच आरोपी संजय, राम निवास, लाभ सिंह, राजेश तथा भीम को गिरफ्तार कर लिया है और कोर्ट में पेश किया जा रहा है। संजीव ढुल फरार है और उसकी गिरफ्तारी के लिये कोशिश जारी है।

फोटो-
मंडी के मंदिर में बैठक तथा मंडी में जिला प्रशासन के खिलाफ प्रदशग्र करते आढ़ती।

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply