जल शक्ति अभियान के तहत सभी अधिकारी जल संरक्षण हेतू समय पर करें तैयारियां पूरी: उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी

0
431


कैथल, 28 जून (कृष्ण गर्ग)
उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने कहा कि जल के बिना जीवन संभव नही है। यदि इसी तरह पानी का दोहन होता रहा तो आने वाले समय में हम सभी को जल संकट का सामना करना पड़ सकता है। जल संरक्षण के लिए जल शक्ति अभियान आगामी एक जुलाई से जिला में चलाया जाएगा। विकास एवं पंचायत विभाग, वन विभाग, मनरेगा, नहरी व लोक निर्माण विभाग सहित सभी संबंधित विभाग जल संचयन के लिए व्यापक रूप रेखा तैयार करके जल संरक्षण की दिशा में कार्य करना सुनिश्चित करें। जल शक्ति अभियान में जिला परिषद के सीईओ को नोडल अधिकारी बनाया गया है।
डॉ. प्रियंका सोनी लघु सचिवालय स्थित कांफ्रैंस हॉल में चलाए जाने वाले जल शक्ति अभियान के बारे में विभिन्न विभागों के उच्चाधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दे रही थी। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा विशेष अभियान के तहत जल संरक्षण की दिशा में कार्य किया जा रहा है, जिसके तहत जल शक्ति अभियान चलाया गया है। जिला में इस दिशा में कार्य करते हुए संबंधित विभागाध्यक्ष अपने-अपने विभागों से संबंधित कार्य को पूर्ण करें। केंद्र सरकार से जल्द ही टीम जिला में आएगी, जो जल संरक्षण से संबंधित कार्यों की फीडबैक लेगी। उन्होंने कहा कि आने वाले मानसून के सीजन में बरसाती पानी के संरक्षण के लिए सभी सरकारी भवनों में वॉटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाए जाने सुनिश्चित किए जाए। इसके साथ-साथ स्कूलों व पार्कों में भी इस तरह की व्यवस्था की जाए ताकि बरसाती पानी का संचयन किया जा सके और भूमि के घटते जल स्तर में सुधार किया जा सके।
उपायुक्त ने कहा कि मनरेगा के तहत जिला के सभी तालाबों की सफाई की जाए तथा पंचायती जमीन पर फाईव पौंड सिस्टम बनाकर जल का उपयोग किया जाना सुनिश्चित किया जाए। तालाबों की क्षमता में भी वृद्धि की जाए, ताकि अधिक से अधिक जल संरक्षण किया जा सके। जिला में चल रहे जल ही जीवन है, प्रति बूंद-अधिक फसल, धान की सीधी बिजाई आदि जल संरक्षण की दिशा में चलाए जा रहे अभियान के तहत ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरूक किया जाए। उन्होंने कहा कि जल शक्ति अभियान में स्वयं सहायता समूह, नेहरू युवा केंद्र, एनसीसी, एनएसएस, स्कूल-कॉलेजों के विद्यार्थियों, सक्षम युवाओं को साथ लेकर ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरूक किया जाए। इसके साथ-साथ विभिन्न संस्थाओं को भी इस कार्य में शामिल किया जाए।
उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने बताया कि मानसून सीजन में अधिक से अधिक पौधा रोपण किया जाए। वन विभाग द्वारा 4 लाख पौधे लगाने के लक्ष्य को पूरा किया जाए। जिला में बनी सभी नई सडक़ों के दोनों और पौधारोपण किया जाए, ताकि हरियाली बनी रहे। सभी आंगनवाड़ी केंद्रों में पौधा रोपण किया जाए। स्कूलों, नहरी विभाग के विश्राम गृह तथा कालोनी, शहरी क्षेत्र के साथ-साथ पंचायती जमीनों पर 10 एकड़ में पौधा रोपण किया जाए। उन्होंने कहा कि सभी विभाग भी अपने-अपने संंबंधित क्षेत्रों में अधिक से अधिक पौधा रोपण करें। उन्होंने निर्देश दिए कि जल शक्ति अभियान की सभी रिपोर्ट 222.द्बठ्ठस्रद्बड्ड2ड्डह्लद्गह्म्.द्दश1.द्बठ्ठ/द्भह्यड्ड पर समय पर अपलोड करना सुनिश्चित किया जाए। कृषि विभाग जल संरक्षण कार्यक्रम के तहत योजनाओं का क्रियान्वयन समय पर करें।
इस मौके पर जिला राजस्व अधिकारी सुरेश कुमार, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी राजबीर खुंडिया, जन स्वास्थ्य विभाग के अधीक्षक अभियंता देवी लाल, कार्यकारी अभियंता राजकुमार, प्रशांत कुमार, कृषि उपनिदेशक डा. पवन शर्मा, पंचायती राज विभाग के कार्यकारी अभियंता राकेश गोयल, नगर परिषद के ईओ अशोक कुमार, जिला उद्यान अधिकारी अंशुल आनंद, जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी शमशेर सिरोही, कार्यक्रम अधिकारी रेणू पसरिचा सहित अन्य संबंधित अधिकारी व कर्मचारी मौजूद रहे।
फोटो- केटीएल01

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here