जिला अधिकारियों ने भी इस गुटबाजी का फायदा उठाना चाहा और चल रही हड़ताल तोडऩे के लिये गेहूं की सरकारी खरीद शुरू करवा दी।

0
568

कैथल, कृष्ण गर्ग
प्रदेश में आढ़तियों द्वारा चल रही हड़ताल को तोडऩे के लिये कैथल की एस डी एम ईशा कम्बोज शुक्रवार को कैथल की अनाज मंडी में आई और किसानों की गेहूं की बोली करवाने के लिये मंडी प्रधान कृष्ण मितल व शमशेर मितल को फोन करके कमेटी में आने को कहा। जिस पर मंडी की एसोसिएशन के दोनों धड़े कमेटी में एस डी एम व अन्य अधिकारियों के सामने ही आपस में भीड़ गये। जिला अधिकारियों ने भी इस गुटबाजी का फायदा उठाना चाहा और चल रही हड़ताल तोडऩे के लिये गेहूं की सरकारी खरीद शुरू करवा दी। गेहूं में तय नमी की मात्रा ज्यादा पाई जाने पर सरकारी एजेंसियां मंडी से खरीद नही सकी। दोपहर बाद भी अधिकारी गेहूं की ढ़ेरियों में नमी की मात्रा देखते रहे, परन्तु नमी ज्यादा पाई गई।
शुक्रवार को कैथल जिले की विभिन्न मंडियों से आये आढ़तियों , प्रधानों व कैथल की नई व पुरानी अनाज मंडी के आढ़तियों की बैठक मंडी स्थित मंदिर में चल रही थी। एकाएक कमेटी के अधिकारियों के द्वारा प्रधान को बोली के लिये कमेटी में बुलाया गया तो शमशेर मितल गुट की ओर जिला अनाज मंडी के प्रधान अश्वनी शोरेवाला अपने गुट के साथ कमेटी में गये। मंडी के दुसरे प्रधान कृष्ण मितल के बाहर होने के कारण उनकी अनुपस्थित में मांगे राम खुरानिया अपने गुट के साथ कमेटी में पहुंचा। जब एस डी एम ईशा कम्बोज ने उनसे मंडी में गेहूं की बोली करवाने के बारे में कहा तो प्रदेश में आन लाइन के बारे में चल रही हड़ताल के कारण अश्वनी शोरेवाला गुट ने बोली करवाने से जबाव दे दिया, परन्तु मांगे राम ने कहा कि यदि गेहूं की बोली जिला प्रशासन करवाना चाहता है तो जिला प्रशासन करवा ले। बस इसको लेकर दो गुट आपस में भीड़ गये। लगभग आधा घंटा के अंतराल के बाद दोनों गुट बाहर आ गये तो कमेटी चेयर मैन राजपाल तवंर ने कहा कि मंडी में दो गुट है और एसोसिएशन भी दो है। इस पर एस डी एम ईशा कम्बोज ने कहा की उनको इससे क्या। एक प्रधान बोली करवाना चाहते है तो क्यों न बोली शुरू करवाई जाये। इस पर वह सभी एजेंसियों के खरीद अधिकारी व कमेटी सचिव दलेल सिंह के साथ किसानों की फसल की ढेरियों की निलामी करवाने मंडी में गई और चार पांच ढेरियां देखी तो उनमें नमी की मात्रा 13.5 व ज्यादा पाई गई। इस पर उसने कहा कि दोपहर बाद सबकी नमी चैक करना शायद धूप में सुख कर कम हो जाये, परन्तु बाद दोपहर भी बात नही बनी। जिस कारण से आज नमी के चलते किसानों की फसल की निलामी नही हो सकी।
फोटो सहित- केटीएल01 से 04

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here