निर्यातक के द्वारा आढ़तियों की लगभग 35- 40 करोड़ की देनदारी न देने को लेकर एक बैठक


कैथल, 3 मार्च (कृष्ण गर्ग)
मंगलवार को कैथल स्थित एक प्रसिद्ध निर्यातक के द्वारा आढ़तियों की लगभग 35- 40 करोड़ की देनदारी न देने को लेकर एक बैठक हुई। जिसमें मंडी के लगभग सभी आढ़ती मौजूद थे। बैठक की अध्यक्षता मंडी प्रधान कृष्ण मित्तल ने की। बैठक को

सम्बोधित करते हुये मंडी प्रधान ने आढ़तियों को बताया की यह निर्यातक काफी समय से मंडी में से खरीद की गई धान के पैसे नही दे रहा और जब आढ़ती उस पर पैसे मांगने के लिये जाते है, तो वह उसको आधे पैसे देने की कहता है और जिस आढ़ती के

ज्यादा पैसे है, उसको जमीन देने की कहता है, परन्तु पैसे देने का समय नही बताता। कुल मिलाकर गोल मोल कर रहा है। उसके शब्दों से लग रहा है कि वह झूठ बोल रहा है। उन्होंने बताया की पहले भी एक बैठक का आयोजन किया गया था और उसके

भाई को भी इस बारे में अवगत करवाया गया था। उसके भाई ने पहले हां भर कर अब साफ हाथ खड़े कर दिये। इसके बाद वे कुछ आढ़तियों को लेकर उस निर्यातक से मिला था, जिस पर उसने 11 मार्च से पेमेंट देने की कही थी। मंडी प्रधान ने उस

निर्यातक के द्वारा पैसे न देने पर मंडी के आढ़तियों से राय मांगी की उसके खिलाफ पेमेंट न देने पर अगला कदम क्या उठाया जाये। मंडी के आढ़तियों ने अपनी अपनी राय में उनके खिलाफ घर के सामने धरना देने, जिला प्रशासन में मामला दर्ज करवाने

आदि जैसे सुझाव दिये गये। अत: में यह फैसला लिया गया कि 11 मार्च को यदि वह मंडी एसोसिएशन के माध्यम से पैसे देना शुरू करता है तो ठीक है वर्ना 12 मार्च को बैठक बुलाकर आगामी योजना बनाई जायेगी। उन्होंने यह भी कहा एसोसिएशन उन

आढ़तियों के पैसा दिलवाने का प्रयास करेगी जो आढ़ती लिखित में एसोसिएशन के साथ चलने का भरोसा देंगे। इस अवसर पर पवन बंसल, जगदीश राय, धनी राम, ईश्वर जैन, धर्मपाल कटवाड़, राम नारायण जाखौली, कृष्ण कुमार आदि सेकड़ों आड़ती

उपस्थित थे।
फोटो सहित

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply