पहली बार जीपीएस प्रणाली द्वारा गन्ने का सर्वे

0
543

कैथल, 11 जून (कृष्ण गर्ग)
सहकारी चीनी मिल में पहली बार जीपीएस प्रणाली द्वारा गन्ने का सर्वे किया जा रहा है। किसानों को अपने गन्ने के रकबे का किला संख्या, खसरा संख्या की जानकारी मिल के फील्ड स्टाफ को देनी अनिवार्य है, जिसे सरकार की वैब पोर्टल साईट ई-खरीद पर डाला जाएगा। यदि कोई किसान फील्ड स्टाफ को अपने गन्ने के खेत की वांछित जानकारी उपलब्ध नहीं करवाएगा, तो उसका गन्ने का रकबा वैब पोर्टल साईट ई-खरीद पर दर्ज नहीं होगा और ऐसी परिस्थिति में ऐसे किसान के गन्ने की पर्चियों के कैलेंडर में नाम दर्ज नहीं हो पाएगा।
कैथल सहकारी चीनी मिल के प्रबंध निदेशक श्री जगदीप सिंह ने क्योडक़ गांव में गन्ना फील्ड स्टाफ द्वारा वर्ष 2019-20 हेतू जीपीएस के माध्यम से किए जा रहे गन्ना सर्वेक्षण का निरीक्षण करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार के निर्देशानुसार इस वर्ष गन्ना फसल का सर्वेक्षण जीपीएस प्रणाली द्वारा ऑनलाईन किया जा रहा है। इससे गन्ने के क्षेत्र एवं किस्म की वास्तविक स्थिति का सही पता चल सकेगा। उन्होंने किसानों से अपील की है कि सभी किसान समय रहते सर्वे के दौरान मिल के फील्ड स्टाफ को यह जानकारी उपलब्ध करवाएं ताकि बाद में किसानों को किसी प्रकार की असुविधा न हो। सर्वे का कार्य पूरा होने के बाद सभी संबंधित किसानों को उनके गन्ने के रकबे का किस्मवार ब्यौरा उनके पंजीकृत मोबाईल पर भेजा जाएगा। यदि किसी किसान को गन्ना सर्वे संबधी कोई आपत्ति होगी तो वह ब्यौरा उपलब्ध होने के एक सप्ताह के अंदर राजस्व विभाग द्वारा जारी गिरदावरी के प्रमाण सहित मिल में लिखित आवेदन कर सकेंगे। तय सीमा की अवधि के दौरान यदि किसी किसान का आवेदन प्राप्त नहीं होता है, तो यह समझा जाएगा कि सर्वे मिल रिकार्ड अनुसार सही है।
मिल के प्रबंध निदेशक जगदीप सिंह ने मिल के फील्ड स्टाफ को गन्ना फसल के रख-रखाव हेतू आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि वे गन्ना फसल का नियमित अंतराल पर निरीक्षण करते रहें तथा गन्ना फसल में लगने वाले कीट व बीमारियों के प्रभावी नियंत्रण हेतू उचित प्रबंध करें। उन्होंने मौके पर उपस्थित किसानों को पानी की बचत के लिए ड्रिप सिंचाई पद्घति अपनाने हेतू प्रोत्साहित किया, जिस पर सरकार द्वारा अनुदान प्रदान किया जा रहा है। इस अवसर पर गन्ना प्रबंधक डॉ. रामदिया श्योकंद, गन्ना विकास अधिकारी डॉ. रामपाल, कार्यवाहक गन्ना विपणन अधिकारी डॉ. देशराज, सुभाष चंद, कुलदीप सिंह, पूर्व निदेशक बलबीर सिंह, शुगर मिल निदेशक सरदार गुरप्रीत सिंह, राजेश कुमार, मनोज कुमार, ईलम सिंह, अनिल कुमार आदि मौजूद रहे।
फोटो- केटीएल01

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here