फूड सप्लाई के अतिरिक्त मुख्य सचिव एस एन राय ने मंडी का किया दौरा।

कैथल, 19 अक्तूबर(कृष्ण गर्ग)
कैथल की अनाज मंडियों में किसानों की धान की फसल औने- पौने दामों पर खरीदने की शिकायत पर शनिवार को फूड सप्लाई के अतिरिक्त मुख्य सचिव एस एन राय ने मंडी का दौरा किया। उनको देख किसान उनके सामने भडक़ उठे और आरोप लगाया की अधिकारियों की मिली भगत के चलते अब व्यापारी उनकी धान समर्थन मूल्य से दो सौ से तीन सौ रुपये प्रति क्विंटल कम मूल्य पर खरीद कर रहे है। किसानों के भडक़े रवैये के कारण उन्होंने मंडी का दौर बीच में छोड़ मार्केट कमेटी में आकर बैठ गये। किसानों ने वहां भी उनका पीछा नही छोड़ा। कमेटी में उन्होंने खरीद में लगे राइस मिल वालों व अधिकारियों से किसानों की धान न बिकने की समस्या का हल निकालने के बारे में सोचने की कहां। कैथल के राइस मिल वालों ने उन राइस मिल वालों का कोटा बढ़ाने के बारे में कहा जिनका कोटा पुरा हो गया। इस पर उन्होंने साफ इंकार कर दिया कि जिन राइस मिल का कोटा पुरा हो गया, उसका कोटा किसी भी कीमत पर नही बढ़ेगा। यदि कैथल में कोटा बढ़ा दिया तो पूरे हरियाणा में यह मांग उठ रही है और वहां के कोटे भी बढ़ाने बढ़े। इस पर उन्होंने डी एफ एस सी से पूछा कि पूरे जिला में किसे कोटे बाकी है, क्यों न उनको कैथल में खरीद के लिये नियुक्त किया जाये। डी एफ एस सी ने बताया की कैथल के कुछ राइस मिल को छोड़ कर, चीका के कई राइस मिल वालों के कोटे बाकी है। इस पर उन्होंने चीका के राइस मिल वालों को कैथल से कस्टम मिलिंग के लिये धान खरीद करने के लिये कहा। चीका से खरीद करने पहुंचे प्रदेश राइस मिल के प्रधान हंस राज ने कहां की चीका मिल मालिक खरीद के लिये तैयार है। इस पर मार्केट कमेटी के चेयरमैन राजपाल तंवर ने कहा की यह सोच कर कैथल में खरीद करने के लिये तैयार नही होना की उनको किसानों की फसल कम मूल्य पर खरीद करेंगे। किसानों की धान की फसल सरकार द्वारा घोषित मूल्य के अनुसार ही बिकेगी। ए सी एस ने तुरन्त फूड सप्लाई के निदेशक को फोन करके दो राइस मिलों को खरीद के आदेश रविवार को कार्यालय खोलकर देने के आदेश दिये। इसके बाद इन दो राइस मिल को आदेशों से पहले ही खरीद करने के आदेश दिये। आढ़ती जयकिशन मान ने कहा की उपायुक्त प्रियंका सोनी ने आढ़तियों को बताया था कि कमेटी के कुछ सदस्य हस्ताक्षर नही कर रहे, इस पर ए सर एस ने डी एफ एस सी से कहां की बिना हस्ताक्षरों ही मंजूरी देने भेज दिया करो। इस अवसर पर मार्केट कमेटी के सचिव, चेयरमैन राजपाल तंवर, उप चेयरमैन कृष्ण बंंंंंसल, जिला अनाज मंडी प्रधान अश्वनी शोरेवाला, राजकिशन, चन्द्रगुप्त शोरेवाला, राइस मिल प्रधान सचिन आदि उपस्थित थे।
ए सी एस के सामने भिड़े राइस मिल मालिक
जब किसानों की फसल खरीद की समस्या के हल के लिये जब ए सी एस कह रहे थे तो प्रदेश राइस मिल प्रधान हंस राज चीका ने चीका से राइस मिल वालों को कैथल खरीद करने के बारे में कहां। इस पर जिला मंडी प्रधान अश्वनी शोरेवाला ने कहां कि चीका के राइस मिल वाले किसानों की फसल सीधे तौर पर खरीद कर आढ़तियों व सरकार को नुकसान पहुंचा रहे है।
फोटो सहित

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply