बाल उपवन आश्रम से अपह्त एक वर्ष 6 माह के मासुम बच्चा वारदात के 18 घंटे मध्य बरामद,


बाल उपवन आश्रम से अपह्त एक वर्ष 6 माह के मासुम बच्चा वारदात के 18 घंटे मध्य बरामद,
बाल उपवन में कुक का कार्य करने वाली बच्चे की माता द्वारा पुलिस कार्रवाई की मुक्त कंठ से भूरि-भूरि प्रसंशा,
श्री सनातन धर्म सभा, वृद्ध एवं बाल उपवन आश्रम कैथल द्वारा एसपी व एसएचओ सम्मानित :-
कैथल, 08 दिसंबर ( कृष्ण गर्ग)
श्री सनातन धर्म मंदिर कैथल के बाल उपवन आश्रम से अज्ञात युवक द्वारा करीब एक वर्ष 6 माह के मासुम बच्चे को अपह्त करने के मामले में थाना शहर पुलिस द्वारा की गई मुस्तैद कार्रवाई दौरान क्वालिटी चौंक कैथल से आरोपी को काबु कर लिया गया। जिसके कब्जे से अपह्त मासुम को सकुशल बरामद कर लिया गया, जिसे मैडिकल जांच उपरांत नियमानुसार कार्रवाई तहत उसके परिजनों के सुपूर्द कर दिया गया। अपह्त बच्चे की माता दो वक्त की रोटी जुटाने के लिए बाल उपवन आश्रम में बतौर कुक कार्य करती है, जो कैथल पुलिस के कार्य की निरंतर मुक्त कंठ से प्रशंसा करते हुए नहीं थक रही थी। गिरफ्तार किए गये आरोपी की करीब ढाई वर्ष पुर्व शादी हुई थी, जो अभी तक पिता नहीं बन सका, जो 5 नवम्बर को इसी आश्रम में बच्चा गोद लेने की मंशा से आया था, परंतु बच्चा गोद लेने की लंबी प्रक्रिया की जानकारी मिलने उपरांत उसने दो दिन बाद 7 दिसंबर की शाम को बाल उपवन से बच्चे का अपहरण करके बाईक पर फरार हो गया। मासुम के अपहरण की वारदात के करीब 18 घंटे मध्य सुलझाए जाने पर श्री सनातन धर्म सभा, वृद्ध एवं बाल उपवन आश्रम कैथल द्वारा 8 दिसंबर को श्री सनातन धर्म मंदिर में पुलिस अधीक्षक विरेंद्र विज व थाना प्रबंधक शहर इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार को सराहनीय कार्य के लिए विशेश सम्मान देते हुए फूलमालाए पहना कर स्वागत करके स्मृति चिंह भेंट किया गया। थाना शहर में आयोजित प्रैस वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक विरेंद्र विज द्वारा उक्त प्रकरण में मिडिया द्वारा दिए गये सहयोग की प्रसंशा करते हुए कहा कि सोशल मिडिया पर वारयल हुई आरोपी व अपह त बच्चे की फोटो देखकर तथा आज सुबह समाचार पत्रों में फोटो सहित प्रकाशित समाचार देखकर आरोपी का मनोबल टुट गया, जो पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण करने की नीयत से शहर की तरफ आ रहा था, जिसे शहर पुलिस द्वारा कमेटी चौंक पर काबु करके गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी युवक की पहचान विकाश निवासी डोहर के रुप मं हुई, जो हाल बलराज नगर कैथल के किराया कमरा में रह रहा है। युवक के कब्जे से अबोध बच्चे को बरामद कर वारदात में प्रयुक्त की गई मोटरसाईकिल जब्त कर ली गई। आरोपी से गहनता पुर्वक व्यापक पुछताछ की जा रही है, तथा आरोपी सोमवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। विदित रहे कि चंद घंटो मध्य अबोध बच्चे की सकुशल बरामदगी पर आम जन द्वारा पुलिस प्रशासन की जमकर तारिफ की जा रही है।
बता दें कि भगत सिंह कालोनी कैथल निवासी एक विवाहित महिला कमेटी चौंक स्थित श्री सनातन धर्म मंदिर में बच्चों के लिए खाना बनाने का काम करती है, जिसकी शिकातय पर 7 दिसंबर को थाना शहर में दर्ज मामले अनुसार वह शाम करीब 4:15 बजे रसोई में काम कर रही थी। जिसकी 3 वर्षीय पुत्री तथा एक वर्ष 6 माह का पुत्र उसके पास ही खेल रहे थे। जब उसने थोडी देर बाद बच्चों को संभाला तो उसका पुत्र गायब मिला। मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे की फूटेज जांच के दौरान एक नामालुम युवक मामुस बच्चे का अपरहण करके बाईक पर फरार होता दिया।

आरोपी व बच्चे की वायरल फोटो से मिली कारगर मदद :-
थाना प्रबंधक शहर इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार द्वारा एसपी विरेंद्र विज के मार्गदर्शन में की गई जांच के दौरान सजगता का परिचय देते हुए अपह्त बच्चे व आरोपी की फोटो तथा विडियों सोशल मिडिया पर डाल दी गई, जो चंद मिंटों मध्य ही विभिन्न गु्रपों में वायरल हो गई। पुलिस द्वारा कई टीमों का गठन करके विभिन्न ठिकानों पर दबिश देने के अतिरिक्त जिला व आसपास क्षेत्र की पुलिस सतर्क कर दी गई। अगली सुबह बलराज नगर स्थित एक बारबर शॉप पर कंटिग कराने पहुंचे आरोपी ने जब वंहा रखे समाचार पत्र में अपनी फोटो देखी तो वह सतंब्ध रह गया, जिसको बारबर ने बताया कि तुम्हारा कल शाम से बच्चे के साथ विडियो व फोटो वायरल हो चुका है, तो उसका मनोबल टूट गया, जो अपह्त बच्चे को लेकर उसी बाईक द्वारा शहर की तरफ आ रहा था, जिसे कमेटी चौंक पर पुलिस द्वारा काबु कर लिया गया।

दुकानों व सार्वजनिक स्थानों पर अधिकाधिक सीसीटीवी कैमरे का हो प्रयोग :-
श्री सनातन धर्म मंदिर में पुलिस अधीक्षक विरेंद्र विज व थाना प्रबंधक शहर इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार को सराहनीय कार्य के लिए विशेष सम्मान देते हुए फूलमालाए पहना कर स्वागत करके स्मृति चिंह भेंट किया गया, जहां पर बडी सख्या में मौजूद व्यापारी वर्ग व आम नागरिकों को पुलिस अधीक्षक द्वारा मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे बारे कमेटी की प्रसंशा करते हुए संदेश दिया गया कि मंदिर में लगे सीसीटीवी कैमरे की बदौलत उक्त संगीन मामला शिघ्रता पुर्वक सुलझ गया। उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि वे अपने मकानों, दुकानों तथा वाणिज्यिक तथा सार्वजनिक संस्थानों पर रात के समय भी बेहतर कार्य करने वाले अच्छी क्वालिटी के सीसीटीवी कैमरों का अधिकाधिक प्रयोग करें, जिससे संगीन मामले शिघ्रता पुर्वक सुलझने कारण अपराध ग्राफ में भारी गिरावट दर्ज की जा सकती है। इस अवसर पर सभा के प्रधान रविभूषण गर्ग, पवन गर्ग, नरेश गर्ग, चंद्रप्रकाश गोयल, धर्मवीर कैमिस्ट, प्रेम सिंगला, बालमुकंद गर्ग, अनिल कुमार, सुभाष गोयल, सहित अनेक गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply