बासमती धान में जबरदस्त तेजी।

0
206

बासमती धान में जबरदस्त तेजी।
कैथल, 12 दिसम्बर (कृष्ण गर्ग)
पांच वर्षों के बाद किसानों को उनकी धान के ऊंचे दाम मिल पाये है। ये दाम भी उस समय मिल रहे जब किसान अपनी लगभग 80 से 90 प्रतिशत तक की धान मंडियों में बेच चुके है। किसान जय किशन ने बताया कि किसानों को वर्ष 2013 में उनकी बासमती किस्म की धान के भाव 6200 रुपये और 1121 के दाम 4500 रुपये प्रति क्विंटल तक प्राप्त हो गये थे। उस समय धान के ये दाम सीजन में ही थे, जिस कारण से प्रत्येक किसान को उनकी धान के सही दाम प्राप्त हुये थे। 2013 के बाद धान के दामों में लगातार गिरावट रही और पिछले वर्ष 2017 में सीजन के दौरान बासमती के दाम 4 हजार खुला था, परन्तु बाद में किसानों की यही बासमती धान लगभग 3 हजार से भी कम मूल्य पर बिकी थी, जिसके कारण अब की बार किसानों ने यह धान काफी कम लगाई और व्यापारियों को इसकी कमी खलने लगी। सीजन के दौरान इसके दाम 4 हजार ही खुले थे और एक बार 4200 रुपये प्रति क्विंटल होने के बाद इसमें काफी मंदा आया और फिर से 4 हजार रुपये क्विंटल बिकने लगी। उस समय किसानों को लगने लगा कि कही पिछले वर्ष की तरह अब की बार भी इसके दाम 3 हजार न हो जाये, बस इसी डऱ के चलते किसानों ने अपनी सारी फसल मंडियों में लाकर बेच दी। इस समय लगभग 80 से 90 प्रतिशत तक किसान अपनी बासमती धान बेच चुके है और अब इस धान के दामों में भारी तेजी देखने को मिली है। मंडी में इस समय इस धान के दाम 4700 रुपये प्रति क्विंटल सुना गया, परन्तु वर्षा के कारण मंडी में बुधवार को आवक न के बाराबर होने के कारण कोई ढेरी नही बिकी। पता चला कि है कि एक आढ़ती के पास धान की चार ढेरी थी जो व्यापारी ने 4650 मांग ली थी, परन्तु किसान ने नही बेचा। मंडी में चर्चा है कि जल्दी ही यह धान 5 हजार से उपर बिक जायेगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here