भारी घोटाले को लेकर ग्रामीणों ने जिला प्रशासन व सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन

0
470


कैथल, 2 जुलाई (कृष्ण गर्ग)
प्रदेश के सबसे बड़े गांव पाई में रिंग बांध को पक्का करने के कार्य में भारी घोटाले को लेकर ग्रामीणों ने जिला प्रशासन व सरकार के खिलाफ जमकर प्रदर्शन किया। ग्रामीणों की मांग है कि घोटाला करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाये। प्रदर्शन करते हुये ग्रामीणों ने बताया की गांव के प्राइमरी स्कूल से पुंडरी रोड़ तक रिंग बांध बनाया जा रहा है। जिसकी चौड़ाई 33 फुट की मंजूर है, परन्तु इसको मात्र 12 फुट का बनाया जा रहा है। उन्होंने बताया की इतना ही नही इसके दोनों ओर ब्रम बनाई गई है, उसमें भी मिटटी नही डाली गई। ग्रामीणों का कहना है कि इसके एक तरफ तो मकान और दूसरी ओर तालाब है। जिस से आने जाने वाले वाहनों, झोटा बुग्गी तथा ग्रामीणों का तालाब मे गिरने का अंदेशा सदा बना रहेगा। ग्रामीणों ने बताया की इसके निर्माण में बहुत ही घटिया सामग्री का प्रयोग किया जा रहा है। जिस अभी से बजरी उखडऩी शुरू हो चुकी है । ग्रामीणों ने बताया कि सडक़ बनने से पहले ही टूटने लग गयी है व इसके पास बने तालाब में परिवहन साधनों व पशुओं की गिरने का खतरा रहता है। बार बार टोकने के बाद भी ठेकेदार कोई ध्यान नही दे रहा। इसके अलावा पाई के लिए भी यह सडक़ न होकर सीवरेज का टैंक बन जाएगा, क्योंकि सीवरेज के मेन हाल को सडक़ के नीचे दबा दिया गया है। इस लिए इससे मकानों का भी नुकसान हो सकता है। इस मौके पर सर्व मंगलम कामना ट्रस्ट के सदस्य , रणधीर, ब्लॉक समिति मेंबर लीलू, महावीर, सुखदेव, फौजी ओम प्रकाश, छज्जु राम, मनोज, बिट्टु, राजपाल, दिवाना, नरेश , विनोद, नरमा देवी, सुदेश कुमारी आदि ग्रामीण शामिल रहे।
उनका इससे कुछ लेना देना नही है- कंचन
इस बारे में जब बी डी पी ओ कंचन लता से जाना गया तो उसने बताया की रिंग बांध के कार्य से उसको कुछ लेना देना नही है। यह दूसरे विभाग का काम है। इस बारे में जब सरपंच धर्मवीर से जानना चाहा तो उसने फोन नही उठाया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here