मतदान में युवा, महिलाओं, बुजुर्गों तथा दिव्यांगों ने उत्साह व उमंग से अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

0
619

कैथल, 12 मई (कृष्ण गर्ग )
लोकतंत्र के महापर्व में कुरूक्षेत्र संसदीय क्षेत्र के लिए हुए मतदान में युवा, महिलाओं, बुजुर्गों तथा दिव्यांगों ने उत्साह व उमंग से अपने मताधिकार का प्रयोग किया। चुनावी समर में मतदान आरंभ होते ही मतदाताओं का मतदान के प्रति जोश स्पष्टï दिखाई दे रहा था। शहरी क्षेत्रों के साथ-साथ ग्रामीण आंचल में मतदान प्रारंभ होते ही बूथों पर लंबी-लंबी कतार में खड़े होकर अपनी बारी का इंतजार कर रहे थे। मतदान के दौरान महिलाओं, युवाओं तथा बुजुर्ग मतदाताओं में मतदान के प्रति अलग ही जोश नजर आ रहा था।
मतदान केंद्रों पर सुबह 7 बजे ही लंबी कतारे देखने को मिली। दिव्यांग मतदाता पूरे जोश के साथ मतदान केंद्रों पर पहुंच रहे थे, जहां वोलिंटियर्स तथा हरियाणा पुलिस के जवान उन्हें मतदान करने में हर प्रकार की मदद कर रहे थे। बुजुर्ग महिलाएं भी लोकतंत्र के महापर्व में पूरे जोश से अपनी भागीदारी सुनिश्चित करवाने के लिए बूथों पर पहुंचे। गर्मी होने के बावजूद भी मतदाताओं में वोट डालने का अलग ही जुनून दिखाई दिया। दोपहर में मतदान प्रतिशत की रफ्तार कुछ धीमी पड़ी, जो दोपहर से सायं तक तेज होती गई और पुन: मतदान बूथों पर मतदाताओं की लंबी कतारें लग गई। लोकतंत्र के महापर्व में इस बार जो युवा पहली बार वोट डाल रहे थे, उनके अंदर एक अलग ही अहसास झलक रहा था। अपनी तर्जनी पर लगे निशान को युवा वर्ग अपने मोबाईल के माध्यम से सेल्फी ले रहे थे और उसे अपने दोस्तों के साथ सोशल साईटों पर सांझा करके खुशी व्यक्त कर रहे थे। जिला प्रशासन द्वारा चलाए गए स्वीप (व्यवस्थित मतदाता शिक्षा और चुनावी भागीदारी) की गतिविधियों के माध्यम से जिला में लोकतंत्र की मेहंदी, वोट ताई, वोटरगिरि, वोटर छबील आदि कार्यक्रमों के माध्यम से जिला के मतदाताओं को मतदान के लिए जागरूक किया गया, जिसका परिणाम भी सकारात्मक रहा। ग्रामीण क्षेत्रों में मतदाताओं ने विशेषकर महिला मतदाताओं ने पूरे जोश के साथ लोकतंत्र के महापर्व में अपनी आहूति डालते हुए अभिव्यक्ति के माध्यम से कहा कि मतदान करना हमारा देश के प्रति कर्तव्य बनता है, जिसका निर्वहन हम सभी ने किया है।
बुजुर्ग मतदाताओं को उनके परिजन मतदान केंद्रों तक लाएं और कई मतदान केंद्रों पर परिवार की तीन पीढिय़ों ने इक्_ïा मतदान किया। मदर्स डे पर हुए लोकतंत्र के महापर्व को युवाओं ने अपनी मां के साथ वोट डालकर मातृभूमि के प्रति अपने फर्ज को भी निभाया। मतदान के दौरान बुजुर्ग महिलाओं ने अपनी जिम्मेदारी निभाते हुए मतदान किया और युवा वर्ग को भी मतदान करने की सशक्त प्रेरणा दी। विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के इस महापर्व में हर वर्ग ने मतदान के माध्यम से देश, समाज के प्रति अपने कर्तव्य का निर्वहन किया। कई मतदान केंद्रों पर महिलाएं अपने छोटे-छोटे बच्चों को भी लेकर पहुंची और उन्हें भविष्य में इसी तरह मतदान प्रक्रिया में शामिल होने की प्रेरणा दी। मतदान के दौरान प्रशासन द्वारा पुख्ता प्रबंध किए गए थे। प्रशासन द्वारा प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र में पिंक, मॉडल बूथ मतदाताओं के आकर्षण का केंद्र रहे। इन केंद्रों पर मतदान करने पहुंच रहे मतदाता की गई व्यवस्थाओं की सराहना कर रहे थे और जिला प्रशासन का आभार भी व्यक्त कर रहे थे।

बाक्स : जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ. प्रियंका सोनी व पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम ने किया विभिन्न बूथों का दौरा
जिला निर्वाचन अधिकारी एवं उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी व पुलिस अधीक्षक वसीम अकरम ने विभिन्न मतदान बूथों का दौरा किया। अपने दौरे के दौरान उपायुक्त ने मतदाताओं विशेषकर महिला मतदाताओं से संवाद किया और लोकतंत्र के महापर्व में भागीदारी करने पर उनका आभार भी व्यक्त किया। उपायुक्त ने मतदान बूथों पर महिला मतदाताओं के साथ आए बच्चों को मदर्स डे की बधाई दी। इसके साथ-साथ मतदान करने वाली महिलाओं को भी मदर्स डे पर मातृभूमि के लिए किए गए मतदान हेतू बधाई दी। उपायुक्त ने सबसे पहले जाट सीनियर सैकेंडरी स्कूल में स्थापित किए गए मॉडल बूथ व अन्य बूथ का निरीक्षण किया और मतदान प्रक्रिया का अवलोकन किया। इसके उपरांत उपायुक्त व पुलिस अधीक्षक ने गांव देवबन के सरकारी स्कूल में बने बूथों का दौरा किया और मतदान करने आए ग्रामीणों से वार्तालाप की। उन्होंने गांव जाखौली, राजौंद, सेरधा, नंदकरण माजरा, सौंगल, हरसौला, प्यौदा इत्यादि स्थानों पर पहुंचकर विभिन्न बूथों का निरीक्षण किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here