महिलाएं अपनी बेटियों को सशक्त एवं स्वावलंबी बनाएं :- कमलेश


महिलाएं अपनी बेटियों को सशक्त एवं स्वावलंबी बनाएं : महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री कमलेश ढांडा
लड़कियां किसी भी क्षेत्र में लडक़ों से पीछे नही हैं, बल्कि कड़ी मेहनत एवं दृढ निश्चय से उच्च मुकाम हासिल कर रही हैं : कमलेश ढांडा
कैथल, 28 नवंबर (कृष्ण गर्ग)
हरियाणा की महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री कमलेश ढांडा ने महिलाओं का आह्वïान किया कि वे बेटियों को उच्च शिक्षा दिलाकर आगे बढने के लिए प्रोत्साहित करें। हरियाणा सरकार द्वारा महिलाओं के स्वावलंबन एवं सशक्तिकरण के लिए अनेक योजनाएं क्रियांवित की जा रही हैं। महिला सुरक्षा के लिए भी अनेक कदम उठाए गए हैं।
राज्यमंत्री कमलेश ढांडा स्थानीय लघु सचिवालय परिसर में स्थित ईवीएम भण्डारगृह में जिला प्रशासन द्वारा महिलाओं को अपने जीवन में उच्च मुकाम हासिल करने के लिए प्रोत्साहित करने हेतू आयोजित प्रथम महिला फिल्म महोत्सव का विधिवत रूप से शुभारंभ करने के उपरांत हॉल में उपस्थित महिलाओं को संबोधित कर रही थी। इससे पूर्व उन्होंने दीप प्रज्ज्वलन से महिला फिल्म महोत्सव का शुभारंभ किया तथा महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा लगाई गई प्रदर्शनी का अवलोकन भी किया। उन्होंने उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी द्वारा प्रथम बार आयोजित किए जा रहे महिला फिल्म महोत्सव की बधाई देते हुए कहा कि ऐसे कार्यक्रमों से महिलाओं में जागरूकता एवं आत्मविश्वास पैदा होगा।
महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री ने कहा कि महिलाएं वर्तमान समय में किसी भी क्षेत्र में पुरुषों से पीछे नहीं है। महिलाओं ने कठिन परिश्रम एवं दृढ निश्चय से उच्च मुकाम हासिल किए हैं। उन्होंने कहा कि सभी महिलाएं अपनी बेटियों को स्वावलंबी बनाने के लिए उन्हें पूरे अवसर प्रदान करें। लड़कियों को उच्च शिक्षा दिलवाकर उन्हें स्वावलंबी बनाएं। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल का जिला कैथल को प्रतिनिधित्व देने के लिए आभार व्यक्त करते हुए किया तथा कहा कि वे ईमानदारी पूर्वक अपनी जिम्मेवारियों का निर्वहन करेंगी। उन्होंने महिला फिल्म महोत्सव में दिखाई जाने वाली फिल्मों के संदर्भ में कहा कि हरियाणा की पृष्ठïभूमि पर आधारित फिल्मों के प्रदर्शन से महिलाओं को प्रेरणा मिलेगी तथा वे अपने बच्चों को आगे बढाने के लिए प्रोत्साहित होंगी। प्रदेश सरकार द्वारा महिलाओं की सुरक्षा एवं सशक्तिकरण के लिए विभिन्न कदम उठाए गए हैं।
उपायुक्त डॉ. प्रियंका सोनी ने महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री कमलेश ढांडा का स्वागत करते हुए कहा कि जिला प्रशासन द्वारा महिलाओं को प्रोत्साहित करने के लिए 7 दिवसीय महिला फिल्म महोत्सव का आयोजन किया जा रहा है। इस दौरान महिलाओं के सशक्तिकरण व उन्हें आगे बढने के लिए प्रेरणादायक फिल्में दिखाई जाएंगी। महिला फिल्मोत्सव में दंगल, नीरजा, चकदे इंडिया, इंग्लिश-विंग्लिश, मिशन मंगल, सुल्तान, सीक्रेट सुपर स्टार शामिल की गई हैं। इस महोत्सव में उन महिलाओं को विशेष रूप से अमंत्रित किया जा रहा है, जिन महिलाओं के पास केवल लड़कियां हैं। उन्होंने आज प्रदर्शित की गई दंगल फिल्म के संदर्भ में कहा कि इस फिल्म में हरियाणा के ही एक ऐसे परिवार की कहानी को दिखाया गया है, जिसने रूढिवादिता के दौर में बेटियों को आगे बढने के लिए प्रोत्साहित किया तथा उन्हें खेलों में आगे बढाया। इन बेटियों ने प्रदेश के साथ-साथ देश का भी अंतर्राष्टï्रीय स्तर पर नाम रोशन किया है, जिस पर सभी को गर्व है। महिला फिल्मोत्सव में दंगल फिल्म का प्रदर्शन किया गया, जिसके लिए जिला प्रशासन द्वारा बड़ी स्क्रीन की व्यवस्था की गई थी।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक विरेंद्र विज, कैथल की उपमंडलाधीश कमलप्रीत कौर, कैथल की नगराधीश एवं कैथल की उपमंडलाधीश शशी वसुंधरा, महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी रेणु पसरीचा सहित अन्य संबंधित अधिकारी, कर्मचारी तथा महिलाएं मौजूद रही।

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply