मुख्यमंत्री समस्या निवारण पटल (सीएम विंडो) तथा नई प्रलेख पंजीकरण प्रणाली का उद्घाटन किया।

0
320

DSCN4167कैथल, 25 दिसंबर
हरियाणा के स्वास्थ्य मंंत्री श्री अनिल विज ने आज स्थानीय लघु सचिवालय परिसर में मुख्यमंत्री समस्या निवारण पटल (सीएम विंडो) तथा नई प्रलेख पंजीकरण प्रणाली का उद्घाटन किया। इस नई व्यवस्था से जहां लोगों को अपनी समस्याओं को मुख्यमंत्री तक अपनी शिकायत पहुंचाने में मदद मिलेगी, वहीं राजस्व विभाग की नई प्रलेख पंजीकरण प्रणाली से लोगों के भूमि के रजिस्ट्रेशन को ऑनलाईन करने से प्रशासन में पूरी तरह से पारदर्शिता आने के साथ-साथ भ्रष्टाचार से मुक्ति मिलेगी।श्री अनिल विज ने कहा कि इस सीएम विंडो व्यवस्था से सरकार व लोगों केे बीच दूरी खत्म करने में मदद मिलेगी तथा प्रशासन को फीडबैक मिलने से समस्याओं का तुरंत समाधान करने की दिशा में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि आज पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी तथा महान पुरूष मदन मोहन मालवीय का

जन्म दिवस है। इन दो महापुरूषों के जन्मदिन पर भारतीय जनता पार्टी की सरकार द्वारा लोगों को राहत देने वाली दो नई योजनाएं शुरू की जा रही हैं। इन दोनों व्यवस्थाओं से आम आदमी को मुख्यमंत्री तक अपनी बात वह समस्या पंहुचाने की सुविधा मिलेगी तथा उस शिकायत व समस्या पर मुख्यमंत्री द्वारा सरकार के स्तर पर लिए गए फैसले की जानकारी भी उपलब्ध हो सकेगी। मुख्यमंत्री समस्या निवारण पटल पर सभी विभागों की शिकायतें एक कांउटर पर दी जा सकेगी तथा शिकायत की सूचना शिकायतकर्ता को टोल फ्री नंबर 1800-180-1332 पर दी जाएगी। इसी नंबर से शिकायत की स्थिति की जानकारी भी ली जा सकेगी। शिकायत पंजीकरण रसीद नंबर तथा शिकायत संबंधित कार्रवाई की सूचना भी शिकायतकर्ता को एसएमएस के माध्यम से दी जाएगी।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि नई प्रलेख पंजीकरण प्रणाली, जिसके तहत भूमि की रजिस्ट्री ऑनलाईन होगी। इस व्यवस्था से हर स्तर पर भ्रष्टाचार खत्म करने में मदद मिलेगी। उन्होंने कहा कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार का यह संकल्प है कि सत्ता में शासन ही नही, बल्कि व्यवस्था में परिवर्तन किया जाए। जनता को बार-बार एक ही काम के लिए सरकारी कार्यालयों के चक्कर न काटने पड़े और भ्रष्टाचार की बीमारी से हर व्यक्ति को निजात दिलाई जाए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने एक नारा दिया था कि कम से कम शासन तथा अधिकतम स्वच्छ व पारदर्शी सुशासन लोगों को दिया जाए। हरियाणा सरकार ने आज के दिन इन दो नई व्यवस्थाओं को शुरू करने से श्री मोदी के इस संकल्प को आगे बढ़ाने का मार्ग प्रशस्त किया है। अभी भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए कई और योजनाओं पर काम चल रहा है, उन्हें अंजाम तक पहुंचाने पर आम लोगों को लाभ होगा।
श्री अनिल विज ने कहा कि तहसील भ्रष्टाचार का सबसे बड़ा केंद्र रही है तथा यहां पर सामानांतर इक्नोमी चलाई जाती रही है। आज सरकार ने प्रदेश की आठ तहसीलों में ऑनलाईन रजिस्ट्री सुविधा उपलब्ध करवाई गई है, जिससे लोगों को भ्रष्टाचार व दलालों से मुक्ति मिलेगी।
उपायुक्त श्री के.एम.पांडुरंग ने स्वास्थ्य मंत्री का स्वागत करते हुए कहा कि आज कैथल तहसील में ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन शुरू किया गया है। आगामी 15 जनवरी तक जिला की सभी तहसीलों में ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन की सुविधा शुरू कर दी जाएगी। उपायुक्त ने कहा कि अब हर व्यक्ति भूमि की रजिस्ट्रेशन के लिए परेशान नही होगा और न ही उसे घंटो लाईनों में खड़े होकर परेशान होना पड़ेगा।
इस अवसर पर सांसद राजकुमार सैनी, पुलिस अधीक्षक कृष्ण मुरारी, अतिरिक्त उपायुक्त जितेंद्र कुमार, एसडीएम आरके सिंह, जिला राजस्व अधिकारी सुभाष महत्ता, तहसीलदार रोशन लाल, राव सुरेंद्र, धर्मपाल शर्मा, राजपाल तंवर, पाला राम सैनी, अरूण सर्राफ, राजेंद्र स्लेटी, लीला राम, नरंजन चहल, जयभगवान शर्मा, संजय भारद्वाज आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here