मुख्यमंत्री है नेक दिल, उन्हें आशा है कि आढ़तियों की जायज मांगे मान लेंगे- गोलन कल प्रदेश भर के आढ़ती, मुनीम, परचेजर तथा मजदुर करनाल में करेंगे सी एम आवास का होगा घेराव- आढ़तीे

0
108

मुख्यमंत्री है नेक दिल, उन्हें आशा है कि आढ़तियों की जायज मांगे मान लेंगे- गोलन
कल प्रदेश भर के आढ़ती, मुनीम, परचेजर तथा मजदुर करनाल में करेंगे सी एम आवास का होगा घेराव- आढ़तीे
कैथल, कृष्ण गर्ग
मंगलवार को जिले के आढ़तियों ने अपने – अपने क्षेत्र के विधायकों को मुख्यमंत्री के नाम अपना मांग पत्र सौंपा। कैथल मंडी के आढ़ती सबसे पहले नर्ह अनाज मंडी स्थित लक्ष्मीनारायण मंदिर में एकत्र हुये । वहो से वे मोटर साइकिलों पर प्रदर्शन करते हुये पुरानी अनाज मंडी में गये। वहां से भी वे आढ़तियों का एक जत्था लेकर विधायक लीला राम के निवास पर जाने के लिये चले। रास्ते में आढ़तियों ने भगत सिंह चौंक, छात्रावास रोड तथा पेहवा चौंक पर प्रदर्शन करते हुये विधायक के निवास पर पहुंचे। विधायक लीला राम के किसी कारण से चंडीगढ़ होने के कारण आढ़तियों ने अपना ज्ञापन उनके पी ए रामकुमार को सौंपा। प्रदर्शन मेंं कैथल मंडी जिला प्रधान अश्वनी शारेवाला, नई मंडी प्रधान यशम लाल गर्ग, पुरानी मंडी प्रधान श्याम लाल बहादुर खुरानियां, विस्तार मंडी के प्रधान रघुवीर सिंह, तीनों मंडियों के मुनीम, परचेजर, मजदूर आदि उपस्थित थे,उधर अनिश्चितकालीन हड़ताल के दुसरे दिन पाई अनाज मंडी के आढ़तियों ने मुख्यमंत्री के नाम अपना मांग पत्र पशुपालन एवं पर्यटन विभाग के चेयरमैन रणधीर सिंह गोलन को सौंपा। इस दौरान गोलन ने आसवासन दिलवाया कि उनकी जायज मांगें मनवाने की वे मुख्यमंत्री से पुरी करने के लिये फरियाद करेगें। पाई अनाज मंडी के आढ़ती सबसे पहले पाई में मंडी प्रधान कृष्ण कुमार की दुकान पर एकत्र हुये और वहां से वे चेयरमैन रणधीर गोलन का ज्ञापन सौंपने एक ग्रुप में गये और पहुंचने पर उनको ज्ञापन दिया। मंडी प्रधान कृष्ण कुमार ने बताया कि उनकी सभी मांगे जायज है और मुख्यमंत्री को उनको हर हाल में मांनना चाहिये। उन्होंने बताया कि उनकी मुख्य मांगों में आढ़तियों को उनकी पुरी 2.5 प्रतिशत की दामी, किसानों की फसल की पेमेंट उनकी मर्जी से आढ़तियों या किसानों के खातें में करने, ई- नेम पोर्टल स्कीम को वापस लेने, सिमांत राज्यों के किसानों की फसल प्रदेश की सिमांत मंडियों में बिकने, मार्किट फीस व उपकर दोनों को पहले की तरह 1 प्रतिशत करने तथा छोटे आढ़तियों के आढ़त के लाइसेंस एक दुकान पर चार या पांच की संख्या में बनने की योजना लागु करने जैसी मांगे है, जो जायज है। इस पर जब हल्का विधायक एवं पशुपालन विभाग के चेयरमैन रणधीर सिंह गोलन से जाना गया तो उन्होंने बताया कि आढ़तियों की जो मांगे है उनके इस ज्ञापन को मुख्यमंत्री को सौंप दिया जायेगा और मुख्यमंत्री से इनकी जायज मांगों को मानने की फरियाद भी की जायेगी। उन्हें आशा है कि मुख्यमंत्री नेक दिल के है और जायज मांगों को मान लेंगे।
फोटों सहित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here