लाक डाउन के दौरान किसानों ने खुलवाया बाजार

0
216

लाक डाउन के दौरान किसानों ने खुलवाया बाजार
कैथल, 12 मई (कृष्ण गर्ग)
बुधवार को पाई की बड़ी चौपाल में ग्रामीणों की एक बैठक हुई, जिसमें लाक डाउन के दौरान पाई में सभी प्रकार की दुकानें खोलने का निर्णय लिया। बैठक के बाद किसान यूनियन के बैनर तले सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया गया और बंद हुई सभी दुकानें खुलवाई गई। बाद में सुचना पाकर पुंडरी थाना प्रभारी निर्मल सिंह मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों को समझाने का प्रयास किया। किसानों ने ग्रामीणों दिल्ली आंदोलन में कल जाने के लिये कहा।
आज सुबह गांव की बड़ी चौपाल में ग्रामीणों ने किसान यूनियन के बैनर तले एक पंचायत आयोजित की। जिसमें सैकड़ों लोगों, दुकानदारों और किसानों ने भाग लिया। पंचायत की अध्यक्षता किसान यूनियन के कार्यकारी प्रधान बलवान, किसान नेता वीरेंद्र, करतारा राम, सत्यवान ने संयुक्त रूप से की। पंचायत में कहा गया कि अधिक तौर पर करियाना सामन व सब्जियां बिकती है। इन दुकानों पर अब भी भीड़ रहती है, परन्तु दूसरी दुकानों पर सामन कम बिकता है और ग्राहक कम होने के चलते इन पर भीड़ भी कम होती है। सरकार ने भीड़ के कारण लाक डाउन के कारण कम भीड़ वाली दुकानें बंद करवा रखी है, जो गलत है। सभी को समान दृष्टि से रोजी रोटी कमाने का हक है। काफी विचार विमर्श के बाद पंचायत में यह फैसला लिया गया कि पाई में हर रोज सभी प्रकार की दुकानें खुलेगी। गांव में छापे मारी के लिये बिजली विभाग का कोई भी कर्मचारी नही घुसेगा। जब तक लाक डाउन रहेगा, तब तक कोई भी पुलिस कर्मचारी दुकानें बंद करवाने के लिये घुसेगा। पंचायत के बाद किसान यूनियन के द्वारा प्रदर्शन करके सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई और सभी बंद दुकानें खुलवाई गई।
दुकानें खुलवाते समय एक पुलिस कर्मचारी संदीप ने विडियो बनाई तो उससे मोबाइल लेकर फोटो और विडियो डिलिट किया गया। जिस पर उन्होंने तुरंत पुडंरी पुलिस को इसकी सुचना दी। सुचना पाकर थाना प्रभारी निर्मल सिंह गांव में पहुंचे और किसान यूनियन के नेताओं की बैठक ली। बैठक में उन्होंने बताया कि जरूरी सामन की दुकानें छोड़कर बाकी सभी दुकानें सरकार के आदेशानुसार बंद रहेगी और यदि नही माने तो मामला दर्ज किया जायेगा। परन्तु किसान नेता अपनी बात पर अड़े रहे।
उधर पुंडरी थाना प्रभारी निर्मल सिंह ने बताया कि वे पाई में गये थे और सरपंच धर्मवीर, पूर्व सरपंच तथा किसान नेताओं के साथ उनकी बातचीत हुई और किसान नेता दूसरी दुकानें न खुलवाने पर सहमत हो गये है। इस पर यदि कोई सरकार के खिलाफ चलता है तो मामला दर्ज किया जायेगा।
फोटो सहित

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here