संबंधित अधिकारी जोहड़ से अवैध कब्जों को हटवाने का कार्य करें तेज : डीसी

0
71

जिला कष्टï निवारण समिति की बैठक में 9 मामलों का हुआ समाधान, संबंधित अधिकारी जोहड़ से अवैध कब्जों को हटवाने का कार्य करें तेज : डीसी प्रदीप दहिया
डीसी प्रदीप दहिया की अध्यक्षता में हुई जिला कष्टï निवारण समिति की बैठक, 7 पैंडिंग मामलों को सुना जाएगा अगली बैठक में
कैथल, 9 सितंबर (कृष्ण गर्ग)
उपायुक्त प्रदीप दहिया ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों से जोहड़ों पर कब्जों की शिकायतें जिला प्रशासन के संज्ञान में आ रही है, इसलिए सभी ग्रामीणों से अपील है कि समय रहते जोहड़ से अवैध कब्जे हटा लें और संबंधित अधिकारी कब्जे हटवाने का कार्य तेज करें। अधिकत्तर गांवों में पानी निकासी की समस्या का कारण अवैध कब्जे भी है। संबंधित अधिकारी भविष्य में मानसून से पहले जोहड़ों को खाली करना सुनिश्चित करें, ताकि गांवों में बरसात होने पर जलभराव की स्थिति न बनें।
उपायुक्त प्रदीप दहिया वीरवार को लघु सचिवालय स्थित ईवीएम वेयर हाउस में जिला कष्टï निवारण समिति की बैठक की अध्यक्षता करने के दौरान बोल रहे थे। उपायुक्त ने बैठक में पुरानी व नई 16 शिकायतों को सुना, जिसमें 7 पुरानी शिकायतों में से 4 मामलों का समाधान किया, जबकि 9 नई शिकायतों में 5 मामलों का समाधान किया। पुरानी व नई शिकायतों को मिलाकर 7 मामले लंबित हैं, जिन्हें अगली बैठक में सुना जाएगा। उपायुक्त प्रदीप दहिया ने गांव संगरौली निवासी सतपाल की अवैध कब्जे से संंबंधित शिकायत सुन रहे थे। जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी जसविंद्र सिंह ने मामले में कार्रवाई करते हुए संगरौली गांव में तालाब पर नाजायज कब्जे का हटवा दिया है। कब्जाधारियों के खिलाफ कार्रवाई को लेकर उपायुक्त द्वारा संबंधित बीडीपीओ फूल सिंह को पूर्ण जांच करने के निर्देश दिए।
बाकल गांव निवासी बलिहार सिंह ने शिकायत की कि सीआईए स्टाफ द्वारा उन्हें चोरी के मामले में उठाकर थर्ड डिग्री टॉर्चर किया गया, जिसके लिए उपायुक्त ने अगली बैठक में संबंधित अधिकारी को मौके पर मौजूद रहने के निर्देश दिए हैं। डीग गांव निवासी बलजीत ने बिजली कर्मचारियों के खिलाफ दुव्र्यवहार करने व बिजली डिफाल्टर को किसी दूसरे के नाम पर बिजली कनैक्शन जारी करने की शिकायत दी थी, जिस पर उपायुक्त ने यूएचबीवीएन के अधीक्षक अभियंता को मामले में जांच करने के निर्देश दिए। कैथल वार्ड नंबर 29 के रहने वाले रघुबीर सिंह ने शिकायत की थी कि उसे लाडली स्कीम के तहत पैंशन मिलती थी। उसकी 60 साल से अधिक उम्र होने के बाद उसकी पैंशन लाडली स्कीम से बुढ़ापा पैंशन में बदल दी गई, लेकि 6 महीनें से उसे बुढ़ापा पैंशन नही मिली है, जिसकी रिकवरी की मांग उनकी तरफ से की गई। मामले में उपायुक्त ने जिला समाज कल्याण अधिकारी को पिछले 6 महीनें की लंबित पैंशन को जारी करने के निर्देश दिए।
आहूं गांव के चांदी राम ने गांव से शराब के ठेके को शिफ्ट करने की मांग की थी, जिसे उप आबकारी एवं काराधान विभाग द्वारा कार्रवाई करते हुए ठेके को शिफ्ट कर दिया गया है, जिससे शिकायतकर्ता संतुष्टï है। ढुंढवा के बजिंद्र व दयौहरा गांव की बाला देवी द्वारा खराब फसल के मुआवजे की मांग को लेकर शिकायत की थी, जिसमें उप निदेशक डॉ. कर्मचंद ने कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत मुआवजा उन किसानों को मिलता है, जिन्होंने किसी बैंक से फसल बीमा करवाया हो या लोन लिया हो। संबंधित शिकायतकर्ताओं ने फसल का कोई बीमा नही करवाया था, इस वजह से यह दोनों इसके पात्र नहीं हैं। गांव खेड़ी गुलाम गांव के बलजीत सिंह ने शिकायत की थी कि उसने धान की फसल आढ़ती को बेची, जिसमें आढ़ती द्वारा पूरे पैसे नहीं दिए और पैसे देने से इनकार कर रहा है। इस मामले को लेकर उपायुक्त ने डीएमईओ को जांच करने के निर्देश दिए। पहले से लंबित मोनू बत्तरा द्वारा दी गई शिकायत के संदर्भ में उपायुक्त ने जिला शिक्षा अधिकारी से उनके द्वारा की गई कार्रवाई को सुना और शिकायतकर्ता को फीस जमा करवाने को कहा।
शिकायतकर्ता ने स्कूल के सिक्योरिटी गार्ड पर मारपीट का आरोप लगाया, जिसके लिए मौके पर मौजूद डीएसपी को जांच उपरांत कार्रवाई करने के निर्देश दिए। गांव पिलनी निवासी राजकुमार ने शिकायत की थी कि उन्हें 100 गज का प्लाट अलाट किया गया था, प्लाट में बिजली का टावर लगा हुआ है। उन्होंने अनुरोध किया था कि उस प्लाट की जगह दूसरा प्लाट अलाट करें। मामले में उपायुक्त ने डीडीपीओ को जांच करने व सीटीएम को रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए। पूंडरी के रहने वाले प्रेम चंद ने प्लाट की कम्पाउंड फीस वापिस दिलवाने को लेकर शिकायत की थी, जिसमें उपायुक्त द्वारा संंबंधित संपदा अधिकारी को उच्च अधिकारियों से बातचीत कर कार्रवाई के निर्देश दिए। इसके अलावा तारागढ़ के बलदेवा, सीवन निवासी बलराम, जसवंती गांव के बलविंद्र सिंह की शिकायतों को भी सुना गया।
इस मौके पर अतिरिक्त उपायुक्त समवर्तक सिंह, एसडीएम संजय सिंह, नवीन कुमार, विरेंद्र ढुल, सीटीएम अमित कुमार, नगर आयुक्त कुलधीर सिंह, अधीक्षक अभियंता बीएस रंगा, अशोक खंडुजा, एमडी शुगर मिल प्रीतपाल सिंह, आरटीए सत्यवान सिंह के अलावा अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।
फोटो- केटीएल01

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here