सड़क सुरक्षा पर विधाॢथयों में जागरुकता पैदा करने के लिए पुलिस द्वारा करवाई जाने वाले वाली रोड़ सेफ्टी क्वीज द्वितिय चरण ब्लॉक लैवल की परिक्षा 12 नवम्बर को

0
156

कैथल 11 नवम्बर(कृष्ण गर्ग)
सड़क सुरक्षा पर विधाॢथयों में जागरुकता पैदा करने के लिए पुलिस द्वारा करवाई जाने वाले वाली रोड़ सेफ्टी क्वीज द्वितिय चरण ब्लॉक लैवल की परिक्षा 12 नवम्बर सोमवार को होगी। प्रतियोगिता में सभी 6 ब्लॉक के सरकारी व प्राईवेट स्कूलों से 4870 विधार्थी हिस्सा लेगे, जिन्होंने प्रथम चरण में अव्वल प्रर्दशन किया गया है। ब्लॉक स्तर पर बेहतरीन प्रर्दशन करने वाले विधार्थी आगे जिला स्तर की प्रतियोगिता में हिस्सा लेंगे। पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी ने जानकारी देते हुए बताया कि रोड सेफ्टी क्विज कंपीटीशन की प्रथम लैवल के परिक्षा परिणाम प्राप्त हो चुके है। कलायत, पुंडरी, राजौंद, सीवन, गुहला व कैथल सहित सभी 6 ब्लॉकों में द्वितिय लैवल की परिक्षा 12 नवम्बर को सुबह 11 से 12 बजे मध्य ली जाएगी। सभी ब्लाकों के राजकीय सिनियर स्कैंडरी ब्वायज स्कूलों को परिक्षा केंद्र बनाया गया है, जबकि गुहला ब्लॉक के विधार्थी राजकीय ब्वायज सिनियर स्कैंडरी स्कूल चीका में परिक्षा देंगे। विधार्थीयों की ज्यादा संख्या को देखते हुए कैथल ब्लॉक में 3 परिक्षा केंद्र चुने गए है। इनमें राजकीय गल्र्स सिनियर स्कैंडरी स्कूल जखौली अड्डा, राजकीय ब्वायज सिनियर स्कैंडरी स्कूल क्वालिटी चौक तथा राजकीय गल्र्स सिनियर स्कैंडरी स्कूल नजदीक गीता भवन शामिल है। इस परिक्षा में 574 सरकारी व 203 प्राईवेट स्कूल सहित 777 विधालयों के अव्वल प्रर्दशन करने वाले 4870 छात्र हिस्सा लेंगे। परिक्षा के प्रथम लैवल में पहली से 5वीं कक्षा के विधार्थी, सैंकिड लैवल में कक्षा 6 से 8 तक के विधार्थी तथा थर्ड लैवल में 9वी से 12वी कक्षा के विधार्थीयों को सम्मलित किया गया है। ब्लाक स्तर पर तीनों लैवल के 3-3 टॉपर विधार्थियों का चयन किया जाएगा, जो जिला स्तर की आगामी परिक्षा में हिस्सा लेंगे। सभी थाना प्रबंधकों को आदेश दिए गए गये है कि वे अपने अपने क्षेत्र की परिक्षा दौरान हरसंभव सहयोग करेगे। पुलिस अधीक्षक ने बताया कि ट्रैफिक रुल्स की जानकारी होने के बाद बहुत सारे बच्चों ने वाहन चलाने छोड़ दिए है, ट्रैफिक रुल की जानकारी से यातायात व्यवस्था सुचारु होने लगी है, तथा बच्चे अपने माता-पिता को भी ट्रफिक रुल्स की जानकारी देते है। परिक्षा दौरान बच्चों के सामान्य ज्ञान की वृद्धि होती है तथा उम्मीद है कि इस प्रकार की परिक्षाओं के आयोजन से किशोर व नौजवानों में सड़क सुरक्षा तथा यातायात नियमों की पालना करने वारे पे्ररित हो रहे है, जिनके सार्थक परिणाम सामने आ रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here