पाई, संजय
पाई में गलियों, नालियों तथा नालों की सफाई न होने के कारण परेशान ग्रामीणों ने खुद ही सफाई का बीडा उठाया है। ग्रामीण महावीर, डी सी, राजेन्द्र, दिलबाग, संजय आदि ने बताया कि पाई में जहां गलियों का बुरा हाल है, वहीं नालियां व नाले भी गंदी से अटे पड़े है। नाले बंद होने से घरों का गंदा पानी गलियों में फैल जाता है। गांव में सफाई कर्मचारियों की संख्या कम होने और उनके द्वारा भी नालों की सफाई न करने के कारण नाले बंद हो गये है। वर्षा के समय गलियां तालाब का रूप धारण कर लेती है। अब इन नालों के पास से लोगों का निकलना दुर्भर हो गया है। इनसे बदबू आने लग गई है और लोगों को बीमारी फैलने का डर सताने लग गया है। उन्होंने बताया कि वैसे तो सरकार स्वच्छ भारत के दावे करती हैं लेकिन वही दावे फैल होते हुए नजर आ रहे हैं। जिस तंग आकर ग्रामीणों ने खुद ही मिलकर गद्दे नालों में घुसकर किचड़ को बाहर निकालना शुरू कर दिया है। उन्होंने बताया कि जो काम सफाई कर्मचारियों को करना चाहिए, वहीं काम अब ग्रामीण करने को मजबूर हैं। उन्होंने बताया कि इसको लेकर कई बार ग्रामीण मौजूदा विधायक से भी मील चुके हैं, लेकिन समस्या का कोई समाधान नहीं हुआ।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here