कैथल, 9 फरवरी (कृष्ण गर्ग)
पाई से बरसाना तथा पाई से हजवाना जाने वाली सड़क मात्र दो महीने से कम समय में ही टूट गई, जबकि इसको बनाने वाली निर्माण एजेंसी ने इस सड़क की गारंटी पांच साल की दी हुई है। ग्रामीणों ने इन सड़कों को बनाने में हुये गोल माल की जांच करने की मांग की है। इसकेटूटने से सरकार को कई लाख का चुना लग गया है।
ग्रामीण महावीर पाई, सत्यवान किशन, दिलबाग, नरेंद्र बरसाना, महेंद्र, जय किशन आदि ने बताया कि एक से दो महीने पहले दो सड़कों का निर्माण किया गया था, एक सड़क पाई से बरसाना तो दुसरी पाई से हजवाना लेकिन अभी तक सड़क पुरी बनी भी नहीं और उखडऩा शुरू हो चुकी है। सड़क का निर्माण तो कर दिया गया लेकिन इसके अंदर कोई भी तारकोल नही डाला गया है। उन्होंने बताया कि बजरी, जो बाहर निकलने लगी है, उससे दोपहिया वाहन फिसल जाते हैं और वाहन चालक चोटिल हो रहे है। उन्होंने बताया कि पाई से बरसाना तथा पाई सेहजवाना जाने वाली सड़कों को बनाने के लिये टेंडर दिया गया था, जिसका निर्माण 25 जून 2021 से शुरू हुआ था। जिसका निर्माण 25 दिसम्बर 2021 को पुरा किया गया था। इसका निर्माण करनाल की स्वास्तिका एजेंसी के द्वारा प्रधान मंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत किया गया था। उन्होंने बताया कि बनाने वाली एजेंसी ने इस सड़क का समय 5 साल घोषित किया था। जिसका सांकेतिक बोर्ड सड़क पर लगा हुआ है, जिस पर पुरा विवरण है। उन्होंने बताया कि यह विभाग उप मुख्य मंत्री दुष्यंत चौटाला के अधीन आता है, जिसमें में किस तरफ से भ्रष्ट अधिकारियों की वजह से भ्रष्टाचार हो रहा है। उन्होंने बताया कि अधिकारियों की जेब पैसों से भरनी चाहिए, बेशक से जनता भाड़ में जाये। उन्होंने मांग की है कि इसकी जांच उपायुक्त जल्दी करवाकर दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करे।
दोषी को मिलेगी की सजा- उपायुक्त
इस बारे में जब पी डब्ल्यू विभाग के एक्शन से जानना चाहा तो फोन न उठाने पर सम्पर्क नही हो पाया, जबकि इस बारे में जानने पर उपायुक्त प्रदीप दहिया ने बताया कि उनको इसकी जानकारी मिल गई है और जांच करवाकर दोषियों को सजा मिलेगी।
फोटो- पी01- बनाने के दो महीने से पहले ही टूटी हुई सड़क
पी02- सड़क पर लगा सांकेतिक बोर्ड, जिस पर सारा विवरण।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here