सरकार यदि किसी को रोजगार नही दे सकती तो अपने मकान व दुकान बेच कर लोगों से उनकी रोजी रोटी न छिने।

0
357

सरकार से मांग,
सरकार यदि किसी को रोजगार नही दे सकती तो अपने मकान व दुकान बेच कर लोगों से उनकी रोजी रोटी न छिने।
कैथल, 23 मई(कृष्ण गर्ग)
सरकार द्वारा आढ़तियों से रोजगार छिनने के मामले में एक बैठक हुई। बैठक में आढ़तियों ने अपनी दुख भरी दास्ताना बताते हुये सरकार से मांग की है कि वह यदि किसी को रोजगार मुहैया नही करवा सकती तो उनसे रोजगार न छिने। आढ़ती अपना यह रोजगार अपनी दुकानें व मकान बेचकर चला रहे है और इसके माध्यम से ही उनको व उनके परिवार को रोजी रोटी मिल रही है। मामला आढ़तियों के आढ़त के लाइसेंस रिन्यू न करने का है।
हरियाणा मार्केटिंग बोर्ड के द्वारा कैथल की नई व पुरानी अनाज मंडी के कुछ आढ़तियों के लाइसेंस रिन्यू करने से साफ कर दिया। जिस पर आढ़तियों ने मंडी के मंदिर में एक बैठक का आयोजन भी किया। बैठक की अध्यक्षता मंडी प्रधान श्याम लाल नोच ने की। इस दौरान उन्होंने बताया कि आढ़तियोंं ने अपने लाइसेंस रिन्यू करवाने के लिये सभी कागज तैयार करके और साल की फीस का डी डी बनाकर मार्केट कमेटी में अप्रैल माह में जमा करवा था। कमेटी के द्वारा उनका लाइसेंस रिन्यू नही किया गया तो वे पंचकुला मार्केटिंग बोर्ड में सी ए यादव से मिले। सी ए ने साफ शब्दों में कह दिया है कि ये लाइसेंस रिन्यू नही हो सकते। पहले ये प्रोविजनल तौर पर बनते आ रहे थे। अब इसकी फाइल जांच पड़ताल होकर बंद हो चुकी है।
बस इसी को लेकर बैठक बुलाई है और आढ़ती अपनी अपनी- अपनी राय रखे। सभी आढ़तियों ने अपनी राय रखी और मामला हाईकोर्ट में ले जाने के साथ- साथ मुख्यमंत्री से भी दखल देने की मांग रखी है। आढ़तियों ने मुख्य मंत्री से मांग की, कि सरकार यदि रोजगार नही दे सकती तो चल रहा रोजगार न छिने। उन्होंने बताया कि उसने ये लाइसेंस काफी पुराने है। उस समय उनके पास दुकानें थी। किसी कारण नुकसान के चलते उन्होंने अपनी दुकानें व घर बेच कर किसानों को पैसे देकर रोजगार चलाया हुआ है। यदि उनसे यह भी छिन गया तो वे न घर के रहेंगे, न घाट के। वे विस्तार मंडी में भी दुकानें नही खरीद सकते, क्योंकि यदि पूंजी वहां लगा दी तो व्यापार कैसे करेंगे। जैसे ही उनके पास जुगाड़ बन जायेगा तो वे उस मंडी में दुकानें खरीद कर लेंगे। उन्होंने बताया कि वे अपने लाइसेंस रिन्यू करवाने के लिये 2017 से लड़ाई लड़ रहे है। पिछले वर्ष 354 लाइसेंस रिन्यू किये गये थे और अब लगभग 260 आढ़तियों ने रिन्यू करने के लिये आवेदन किया है। बैठक में जिला मंडी प्रधान अश्वनी शोरेवाला, धर्मपाल कटवाड, कृष्ण शर्मा चंदाना, ़, जय किशन मान, जसमेर ढांडा, पवन बंसल, पवन कोटड़ा, ऋषि पाल गुप्ता आदि सेंकड़ों आढ़ती उपस्थित थे।
फोटो- केटीएल01- लाइसेंस रिन्यू करवाने हेतू विचार विमर्श करते आढ़ती।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here