10 सितंबर 2022 को आढ़तियों की गोहाना मंडी में सरकार के खिलाफ जो महारैली से सरकार की चुल्हे हिल जायेगी- गुप्ता। मोदी है उसके एम से मर्डर, ओ से ऑफ, डी से डेमोक्रेसी आई से इंडिया यानी मर्डर ऑफ डेमोक्रेसी इंडिया-तायल

0
95

कैथल कृष्ण गर्ग।
सोमवार को सुबह 11:00 बजे नई अनाज मंडी स्थित श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर प्रांगण कैथल में जिला प्रधान अश्वनी शौरेवाला की अध्यक्षता में हरियाणा स्टेट अनाज मंडी आढ़ती एसोसिएशन के प्रधान अशोक गुप्ता ने तीनों मंडियों की जनरल हाउस की मीटिंग ली। बैठक को हरियाणा प्रदेश मंडी एसोसिएशन के अध्यक्ष अशोक गुप्ता ने किया। इस दौरान अशोक गुप्ता ने बोलते हुये मंडी के आढ़तियों को बताया की सरकार किस प्रकार वर्ष 2016 से आढ़तियों को उजाडऩे का काम कर रही है। हर रोज नए नए नियम आढतियों पर थोपे जा रहे हैं। सरकार कहीं पर भी किसी भी अन्य ट्रैंड के व्यापाररियों से नहीं मिलती, क्योंकि व्यापारियों के पास मिलने का समय ही नही होता। सरकार को सिर्फ आढती ही खाली दिखाई देते हैं, जो उनकी बात तो सुनती हैं औरसरकार के ामंगने पर टैक्स के रूप में रुपए देते हैं औा पार्टी के लिए चंदा देते हैं, परंतु उसके बावजूद भी यह भारतीय जनता पार्टी उन्हीं आढतियों को उजाडऩे का काम कर रही है। अब हम चैन से नहीं बैठेंगे। इन व्यापारियो के संघर्ष के लिए हम दिन रात लगे रहेंगे और व्यापारियों को उनका हक मिलकर ही रहेगा। प्रदेश के अंदर या तो सरकार रहेगी या व्यापारी। हमने समय-समय पर विभिन्न प्रकार के आयोजन किए हैं और सरकार से भी कई बार बैठक की है, परंतु हर बार सरकार अपने वादे से मुकर रही है। अब सरकार को इसका सीधा ही जवाब देना होगा। मुख्यमंत्री खट्टर को सब पता है परंतु उसके बावजूद भी व्यापारियों की एक नहीं सुन रहा। व्यापारियों को बिचौलिया कहा जाता है परंतु वास्तव में तो मोदी और सरकार के बीच में खट्टर ही बिचौलिए का काम करता है। केन्द्र सरकार जो कोई भी नियम के बारे में सोचती है तो उसका प्रयोग सबसे पहले हरियाणा में खट्टर करता है। जिस कारण ही खट्टर वाहवाही लूटने के कारण ही सत्ता में है। हांसी के राम अवतार तायल ने जो प्रदेश आढ़ती एसोसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष भी है, उन्होंने कहा कि अब हम इस सरकार से डरने वाले नहीं है और इसका डटकर मुकाबला करेंगे।उन्होंने मोदी का भी उदाहरण दिया ।उन्होंने बताया कि पहले जीएसटी यानी गब्बर सिंह टैक्स लागू किया और जो मोदी है उसके एम से मर्डर, ओ से ऑफ, डी से डेमोक्रेसी आई से इंडिया यानी मर्डर ऑफ डेमोक्रेसी इंडिया नाम है। इस अवसर पर मंडी प्रधान श्यामलाल, चेयरमैन धर्मपाल , पुरानी मंडी के प्रधान श्याम बहादुर खुरानिया, विस्तार मंडी के प्रधान आदि अनेक आढती उपस्थित थेइसमें हांसी से कार्यकारिणी प्रधान रामअवतार तायल व लाडवा से प्रमोद धवन जिसमें राज्य की मंडियों की समस्याओं पर बातचीत हुई ,और उन्होंने सभी आढ़तियों से अनुरोध किया कि आने वाली 10 सितंबर 2022 को सुबह 10:00 बजे गोहाना मंडी में सरकार के खिलाफ जो महारैली रखी है, उसमें सभी आढती बढ़-चढ़कर भाग ले। हम सरकार से बार बार कह रहे है कि किसानों की मांग के अनुसार ही उनको सिधी फसल की अदायगी की जाये। उन्होंने 10 सितम्बर को गोहान में होने वाली रैली अधिक से अधिक संख्या में आने की अपील की। इस रैली से सरकार की चुल्हे हिल जायेगी।

बैठक में ये रखी समस्यायें:-

  1. जो सरकार ने ई नेम पोर्टल एम एस पी से अलग प्राइवेट बिकने वाली सभी फसलों की खरीद-फरोख्त ई नेम के जरिए होगी। जोकि बिल्कुल भी व्यवहारिक नहीं है। ई नेम पोर्टल एक बहुत ही जटिल प्रक्रिया है जिसमें फसलों की खरीद फरोख्त करने में किसान व आढ़ती को बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा।
  2. आढतीयों के माध्यम से जो फसल बिक रही है उन्हें सरकार की तरफ से 2.50त्न की पूरी आढत मिलनी चाहिए।
  3. हरियाणा राज्य में एमएसपी से अलग बिकने वाले माल पर मार्केट फीस व एच आर डी एफ 1त्न होनी चाहिए।
  4. जो मार्केट कमेटी का लाइसेंस पंजाब में बनाया जाता है, उसी तरह हरियाणा में भी लागू किया जाए।
  5. हरियाणा राज्य के सीमांतर किसानो की फसल हरियाणा की मंडियों में बिकिनी चाहिए।
  6. किसानों के माल की जो पेमेंट होनी है वह किसान से पूछ कर आढती के माध्यम से या किसान के खाते में होनी चाहिए।
    बैठक में ये रहे उपस्थित।
    मंडी मेंं हुई बैठक में नई अनाज मंडी प्रधान श्यामलाल नौच, पुरानी अनाज मंडी प्रधान श्याम बहादुर खुरानिया, अतिरिक्त अनाज मंडी प्रधान रघुवीर सिंह, मंडी चेयरमैन धर्मपाल कठवाड़, पूर्व नगर परिषद चेयरमैन राम निवास मित्तल, देसराज बंसल, मोहनलाल खुरानिया, सुरेंद्र सरदाना, बाबालदाना प्रधान विनोद जैन, राजौंद के प्रधान ईश्वर, सुरेश, सुभाष कैलरम, जय किशन मान, जसमेर ढांडा, कृष्ण चंदाना, राजपाल चल, सत्यवान शीश मोर, सुभाष कयोडक, सुनील बंसल, राधे श्याम बंसल, सतीश जैन, सुरेश कोटडा, नवीन कोटडा, बजरंग मित्तल, बीरभान जैन, शमशेर ,सतपाल, आदि आढ़ती मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here