');}

लड़की आश्रम में मिली मौजूद, नहीं मिले कोई चोटो के निशान

11 Ladwa 5
लाडवा, 11 अगस्त(संजय गर्ग): लाडवा-सम्भालखा मार्ग पर स्थित बाल आश्रम में एक लगभग 11 वर्षीय लड़की के आश्रम से भागने पर जिला अधिकारियों संज्ञान लेते हुए आश्रम में रह रहे बच्चों की जांच शुरू कर दी है।
बाल आश्रम में पहुंची जिला बाल सरंक्षण अधिकारी इन्दु शर्मा, बाल सरंक्षण अधिकारी विकास कुमार व आऊट रीच वर्कर पूजा सचदेवा ने जानकारी देते हुए बताया कि शुक्रवार उन्होंने एक लगभग 11 वर्षीय लड़की के देर रात्रि आश्रम से भाग जाने का समाचार मिली था। जिस पर उन्होंने स्वंय संज्ञान लेते हुए बताया कि वह आज आश्रम में रह रहे बच्चों से पूछताछ कर सच्चाई का पता लगाएंगे और यहां के संचालको द्वारा बच्चों का किस प्रकार रख-रखाव किया जा रहा है तथा उनकी खान-पान की कैसी व्यवस्था है, सब बातों की जांच करेगी। उन्होंने पूछने पर बताया कि जो लड़की यहां से भाग गई थी, वह यहां आ चुकी है और उसके शरीर पर कहीं भी चोट के निशान नहीं पाए गए। उन्होंने बताया कि जांच पूरी होने के बाद ही वह कुछ बता पाएंगी। वहीं आश्रम के संचालक शीशपाल मढ़ान ने कहा कि यह लड़की पहले भी दो-तीन पुलिस के कब्जे व आश्रम से भाग चुकी है। उन्होंने बताया कि इसकी मां की मृत्यु हो चुकी है और इसके पिता टीबी के मरीज है जिनका लाडवा के सरकारी अस्पताल से इलाज चल रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि उन्होंने इस लड़की को स्कूल में भी दाखिल करवाया गया था। पंरतु इस लड़की के बार-बार भागने बारे पूछने पर उसने बताया कि उसका यहां मन नहीं लगता। इसलिए वह भाग जाती है। उन्होंने कहा कि उनके पूरे स्टॉफ ने उसे ढूंढ लिया था और उसका ठीक ढंग से लालन-पालन किया जा रहा है। वहंी उन्होंने बताया कि उन्होंने लाडवा के सरकारी अस्पताल में इस लड़की का मेडिकल भी करवाया गया था। जिसके अनुसार इसके शरीर पर कहीं भी चोटों आदि के निशान नहीं है। आश्रम के संचालक शीशपाल ने बताया कि इस लड़की को अब इस आश्रम में रखना नहीं चाहते परंतु जिला प्रशासन अभी इस लड़की को यहीं रखना चाहता है।

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply