');}

अब गांवों में ही पुस्तकालयों से युवाओं को मिलेगा मार्गदर्शन: सैनी

2 Ladwa 2
लाडवा, 2 अक्तूबर(संजय गर्ग): लाडवा विधायक डा. पवन सैनी ने कहा कि लाडवा हलका विश्व का पहला हलका है जहां गांवों में सावित्री बाई फूले पुस्तकालयों के माध्यम से युवाओंं का मार्गदर्शन किया जाएगा और हर विषय की पुस्तकें गांव के पुस्तकालय में उपलब्ध करवाई जाएगी। इसलिए हलका के 38 गांवों में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर एक साथ 38 पुस्तकालयों का शुभारंभ किया गया है।
लाडवा विधायक डा. पवन सैनी सोमवार को राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जंयती पर खंड कार्यालय बिहोली, मोरथला व बीड़ मथाना में नारियल फोड़ कर पुस्तकालयों का उद्घाटन करने के बाद सभाओं को संबोधित कर रहे थे। इससे पहले विधायक ने तीनों में पूजा अर्चना कर विधिवत रूप से सावित्री बाई फूले पुस्तकालयों का शुभारंभ किया। इतना ही नहीं गांव मोरथला में पालिथीन को त्यागने के लिए लोगों को थैले बांटे गए और गांव मोरथला भी पालिथीन मुक्त अभियान में शामिल हो गया। इस दौरान विधायक ने गांवों में पुस्तकालयों के उद्घाटन करने के उपरांत सावित्री बाई फूल के चित्र पर पुष्प अर्पित कर ग्रामीणों को शिक्षित होने व सामाजिक कुरीतियों को समाप्त करने की शपथ दिलाई जाएगी। उन्होंंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में प्रतिभा की कमी नहीं है, लेकिन उन्हें उचित संसाधन नहीं मिल पाते हैं। इसी कारण युवा प्रतियोगी परीक्षाओं में पिछड़ते हैं और इतिहास तो भी नहीं जान पाते हैं। अब होनहार युवा गांव में ही आइएसएस व आइपीएस बनने के सपने को साकार कर सकें। उन्होंने कहा कि सावित्री बाई फूले देश की पहली महिला शिक्षक थी, जिन्होंने महिलाओं में शिक्षा की अलख लगाई। उन्होंने महिलाओं को अधिकार दिलाने के लिए लंबा संघर्ष किया। उनके संघर्ष से महिलाएं प्रेरित हों, इसी मकसद से खंड में उनके नाम से पुस्तकालयों की शुरूआत की जा रही है। ग्रामीणों को उनके साहित्य एवं जीवनी के बारे में अवगत कराया जाएगा ताकि युवा पीढ़ी उनकी शिक्षा से प्रभावित होकर समाज को नई दिशा देने का काम करें। सावित्री बाई फूले ने अध्यापन कार्य के साथ-साथ महिलाओं को शिक्षा के प्रति जागरूक करने का काम किया। जिस जमाने में महिलाओं के घर से निकलने पर प्रतिबंध था, उस जमाने में उन्होंने महिलाओं को शिक्षित करने के लिए कदम बढ़ाया। उनके इस संघर्ष को उन्होंने मूर्त रूप देने के लिए संकल्प लिया था, जिसे पुस्तकालय खोलकर पूरा करेंगे। इस मौके पर बरखा राम, जसपाल, रणधीर, रिंकू, दीपक साही, अश्वनी, ओमबीर बुढ़ा, मुकेश शर्मा, जयपाल, सुशील कुमार, गुरदेव सिंह आदि गणमान्य लोग मौजूद थे।
बाक्स
किन किन गांवो में खोले गए पुस्तकालय
पिपली में डॉ. श्याम लाल, सिरसमा में नरेंद्र बीड़ मथाना, उमरी में रामप्रकाश मथाना, रामगढ़ देशराज कनीपला, बजीदपुर में भाजपा के कार्यकर्ता रामनारायण मदान, बीड़ पिपली में बरखा राम, बोढ़ी में विक्रम मसाना, दौलत पुर में सतपाल और यज्ञपाल, दूधला में देवेंद्र शर्मा, ईशरगढ़ में राजेंद्र कोलापुर, झिंवरेहड़ी-2 में हरमेश सैनी, जिरबड़ी में धर्मवीर मिर्जापुर, कनीपला में रवींद्र सांगवान, कौलापुर में सतबीर मंगौली, किशनगढ़ में रवि मथाना, मसाना में दीपक साही, मुनियारपुर में रामस्वरू सैनी और पट्टी किशनपुरा में ईश्वर कौशिक ने पुस्तकालय का शुभारंभ किया।

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply