');}

प्रदेश में शीघ्र ही क्लीनिकल इस्टेब्लिशमेंट एक्ट लागू किया जाएगा– विज

ktl02
कैथल, 8 दिसम्बर (कृष्ण गर्ग)
हरियाणा के स्वास्थ्य, खेल एवं युवा कार्यक्रम विभाग के मंत्री  अनिल विज ने कहा कि प्रदेश में शीघ्र ही क्लीनिकल इस्टेब्लिशमेंट एक्ट लागू किया जाएगा। इस एक्ट के लागू होने के बाद निजी अस्पताल मरीजों से उपचार व

जांच के नाम पर मनमाने दाम नही वसूल पाएंगे।
अनिल विज आज लघु सचिवालय के सभाकक्ष में जिला कष्ट निवारण समिति की बैठक की अध्यक्षता करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रदेश में ईलाज के नाम पर ज्यादा बिल वसुल

कर रहे प्राईवेट अस्पताल मनमाने दाम नही वसूल पाएंगे। इन अस्पतालों पर अब शिकंजा कसा जाएगा। उन्होंने कहा कि गुडग़ांव के फोर्टिज अस्पताल को सरकारी पैनल से बाहर करने के साथ-साथ इस अस्पताल के ब्लड बैंक

का लाईसैंस भी रद्द करने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण की भूमि की लीज को रद्द करने बारे संभावनाएं तलाशने के आदेश दिए गए हैं। सरकार द्वारा सस्ती दर पर जमीन प्राप्त करने वाले निजी

अस्पतालों द्वारा नागरिकों को प्रदान की जा रही सुविधाओं की जांच करवाई जाएगी। उन्होंने कहा कि प्रदेश में डाक्टरों की रिक्त पदों के लिए 553 डाक्टरों को नियुक्ति दी गई है, जिनमें से 250 डाक्टरों ने कार्यभार भी संभाल

लिया है। मैरिट सूची के बाद प्रतिक्षा सूची में शामिल डाक्टरों को नियुक्ति पत्र देने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी।
विज ने कहा कि इस बार प्रदेश में पड़ौसी प्रदेशों पंजाब और दिल्ली की अपेक्षा डेंगू के मामलों में पूरी तरह से स्थिति नियंत्रण में रही। एक तरफ जहां दिल्ली में डेंगू के 18 हजार मामले तथा पंजाब में 12 हजार

मामले प्रकाश में आए, वहीं हरियाणा में मात्र 2 हजार डेंगू के मामले प्रकाश में आए थे। स्वास्थ्य विभाग डेंगू की बीमारी को लेकर पूरी तरह से सतर्क रहा, जिसके कारण समुचित उपचार दिया गया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरक

ार द्वारा पंचायती राज संस्थाओं के जन प्रतिनिधियों की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता निर्धारित करने के बाद केंद्र सरकार को सांसदों एवं विधायकों की न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता निर्धारित करने बारे भी प्रस्ताव भेजा गया है। उन्होंने

केंद्र सरकार के स्वास्थ्य कर्मियों द्वारा की जा रही हड़ताल के संदर्भ में कहा कि यह कर्मचारी केंद्र सरकार के अधीन आते हैं। विभाग के उच्चाधिकारियों द्वारा हड़ताली कर्मियों के साथ बातचीत की जा रही है।
इस अवसर पर विधायक कुलवंत बाजीगर, दिनेश कौशिक, पूर्व विधायक बनारसी, उपायुक्त मती सुनीता वर्मा, पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी, अतिरिक्त उपायुक्त कैप्टन शक्ति सिंह, एसडीएम कमलप्रीत कौर,

जगदीप सिंह, सुरेंद्र पाल, नगराधीश सुशील कुमार, जिला परिषद की चेयरपर्सन सुखविंद्र कौर, जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी संयम गर्ग,  वन उप संरक्षिका हैरतजीत कौर, डीएसपी रामकुमार, तरूण सैनी, सतीश

गौतम, अधीक्षक अभियंता आरके तेवतिया, भाजपा के जिला अध्यक्ष सुभाष हजवाना, बीजेपी के वरिष्ठ कार्यकर्ता रणधीर गोलन, राजपाल तंवर, रामपाल राणा, श्याम सूंदर बंसल, राजेंद्र सलेटी, अरूण सर्राफ, सतीश शर्मा, मारू

ति शर्मा, पाला राम सैनी, सरदार हरपाल सिंह, अशोक ढांड कष्ट निवारण समिति के मनोनित सदस्य के अलावा विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply