');}

करियाना दुकान पर दबिश देते हुए बेचने के लिए दुकान में रखे हुए 10 नर-मादा जोडी यौन अंगो सहित बरामद

ktl05

कैथल 05 जनवरी ( कृष्ण गर्ग)
उप वन संरक्षक हैरतजीत कौर आई.एफ.एस. के आदेश पर रेंजर अफसर द्वारा शहर पुलिस को अपनी टीम में शामिल कर एक करियाना दुकान पर दबिश देते हुए बेचने के लिए दुकान में रखे हुए 10 नर-मादा जोडी मोनिटर लिजर्ड / पाटड़ा गोह / चिपटन गोह के यौन अंगो सहित विभिन्न अंग बरामद किए गये है। थाना शहर में मामला दर्ज कर आरोपी दुकानदार को वन्य संरक्षण अधिनियम की विभिन्न धाराओं तहत गिरफ्तार कर लिया गया, जिसे शुक्रवार को कुरुक्षेत्र स्थित स्पैशल पर्यावरण न्यायालय की छुट्टी होने कारण 5 जनवरी को डयूटी मैजिस्टे्रट कुरुक्षेत्र की अदालत में पेश कर दिया गया, जहां से उसे न्यायालयके आदेशानुसार 8 जनवरी तक कुरुक्षेत्र जिला कारागार में न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। 8 जनवरी सोमवार को आरोपी कुरुक्षेत्र स्थित स्पैशल पर्यावरण न्यायालय मेंं पेश किया जाएगा। पुछताछ दौरान आरोपी ने कबुला कि उसने उत्तर प्रदेश से कैथल आए यूपी निवासी एक व्यक्ति से गोह के अंग बेचने के लिए खरीदे थे, जो तंत्र-मंत्र आदी तांत्रिक क्रियाओं में प्रयुक्त किए जाते है।
जिला पुलिस प्रवक्ता रोशन लाल खटकड़ ने जानकारी देते हुए बताया कि रोहिणी नई दिल्ली निवासी पीएफए स्वम्सेवी दीपक ने श्रीमति हैरतजीत कौर आई.एफ.एस. कैथल को जानकारी दी, कि माता गेट नजदीक शिवमंदिर कैथल निवासी नवीन की छोटी मंडी में करियाना स्टोर की दुकान है, जहां नाजायज तौर पर पाटडा गोह / मोनिटर लिजर्ड के विभिन्न अंग बेचे जा रहे है। उप वन संरक्षक श्रीमति कौर द्वारा तत्काल ठोस कदम उठाते हुए वन राजिक अधिकारी अनिल श्योराण को आदेश दिया कि शहर पुलिस की मदद से तुंरत आगामी कार्रवाई अमल में लाए। प्रवक्ता ने बताया कि शहर पुलिस के सबइंस्पेक्टर बिजेंद्र, हेडकांस्टेबल प्रभात व अनिल श्योराण वन अधिकारी की टीम द्वारा सिपाही चालक सुरेंद्र कुमार सहित सरकारी गाडी लेकर शाम के समय दुकान पर दबिश दी गई। वन राजिक अधिकारी द्वारा नियमानुसार तलाशी दौरान दुकान से 20 नर व मादा चिपटन गोह के यौन अंगों सहित विभिन्न अंग बरामद किए गये है। सबइंस्पेक्टर बिजेंद्र द्वारा अंगों को कब्जा पुलिस में लेते हुए करीब 33 वर्षीय आरोपी नवीन को वन्य प्राणी संरक्षण अधिनियम 1972 की धारा 9,39,49,50,51 अंतर्गत गिरफ्तार कर लिया गया। पुछताछ दौरान आरोपी ने कबुला कि उसने उत्तर प्रदेश निवासी किसी व्यक्ति से गोह के अंग बेचने के लिए खरीदे थे, जो तंत्र-मंत्र आदी तांत्रिक क्रियाओं में प्रयुक्त किए जाते है। आरोपी 5 जनवरी को न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। पुलिस द्वारा मामले की गहनता पुर्वक आगामी जांच की जा रही है, तथा रकैट से जुड़े अन्य आरोपियों के गिरफ्तारी भी संभावना है।
फोटो- के टी एल 05, 06

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply