');}

भक्ति में डूबोगे तो मुक्ति निश्चित है: संत पुरूषार्थानंद मुश्किलों से कभी नहीं घबराना चाहिए

6 Ladwa 3

लाडवा, 6 जनवरी(संजय गर्ग): परम हंस योग दरबार ब्रहाज्ञान मंदिर महावीर कालोनी लाडवा की मुख्य यजमान संत पुरूषार्थानंद जी ने कहा कि सच्चे इन्सान को कांटो की भी परवाह नहीं होती।
संत पुरूषार्थानंद जी महाराज नववर्ष के उपलक्ष्य में प्रथम शनिवार को एक विशेष सत्संग के आयोजन के दौरान अपने प्रवचनों में बोल रही थी। उन्होंने कहा कि सतगुरूके प्यारे को कांटो से नहीं घबराना चाहिए क्योंंकि कमल या फूल भी अकेला ही कांटो के बीच शोभाएमान होता है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार चन्द्रमा भी तारों के बीच ही चमकता है। उन्होंने उपस्थित श्रद्वालुओं का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि मुश्किलों में अकेला इंसान डगमगा जाता है। वहीं बाई परम योगानंदपुरी जी महाराज ने भी अपने प्रवचनों में कहा कि बिना रोए तो प्याज भी नहीं कटती तो इतनी लम्बी जिदंगी कैसे काटोगे। सत्संग के बाद अपने जीवन में अच्छी-अच्छी बातें अपनाने से संबधित 31 प्रकार की पर्चियां भक्तों से उठवाई गई। जिनमें लिखा था कि परमात्मा का शुक्र है कि मौत सबकी आती है वरना अमीर लोग गरीबों का मजाक बनाते है कि वह गरीब था इसलिए मर गया। उन्होंने यह भी कहा कि पानी में डूबोगे तो मौत निश्चित है और यदि भक्ति में डूबोगे तो मुक्ति निश्चित है। उन्होंने कहा कि इंसान बिमारी के डर से खाना बंद कर देता है। परंतु वह मौत के डर से पाप करना क्यों नहीं छोड़ता। सत्संग के बाद आरती की गई व प्रसाद वितरण किया गया। इस अवसर पर भारी संख्या में श्रद्वालु में उपस्थित थे।

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply