');}

लिंग अनुपात 835 से 901 का हुआ, अब 935 का लक्ष्य- डी सी

ktl01
कैथल, 10 जनवरी (कृष्ण गर्ग)
जिला में इस समय एक अरब 50 करोड़ रुपए की धनराशि से विकास परियोजनाएं जारी हैं। आगामी जून 2018 तक जिला वासियों को मुख्यमंत्री घोषणाओं में से 90 प्रतिशत परियोजनाओं को लोकार्पित कर दिया जाएगा। जिला में गत 6 माह के दौरान 13 विकास परियोजनाएं पूर्ण की गई हैं तथा 11 विकास परियोजनाओं का तोहफा जिला वासियों को मुख्यमंत्री घोषणाओं के तहत मिला है।
यह अभिव्यक्ति उपायुक्त  सुनीता वर्मा ने स्थानीय पेहवा चौक स्थित मीडिया सैंटर में मीडिया क्लब कैथल द्वारा प्रैस से मिलिए कार्यक्रम में प्रैस प्रतिनिधियों को संबोधित करते हुए व्यक्त की। उन्होंने कहा कि जिला कैथल के प्रिंट एवं इलैक्ट्रोनिक मीडिया के सभी प्रतिनिधियों ने सकारात्मक दृष्टिकोण से हमेशा प्रशासन का साथ दिया है तथा लोगों की परेशानियों को प्रशासन तक पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र के चौथे स्तंभ के रूप में प्रैस ने अपने दायित्व का बखुबी निर्वहन किया है तथा प्रैस में जिला प्रशासन व जनता के बीच मजबूत कड़ी का कार्य किया है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन का प्रैस प्रतिनिधियों के साथ हमेशा अच्छा तालमेल रहा है। प्रैस प्रतिनिधियों द्वारा सरकार की कल्याणकारी योजनाओं तथा जिला प्रशासन की गतिविधियों को लोगों तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है। प्रैस का सकारात्मक लेखन जिला प्रशासन के लिए एक टॉनिक का कार्य करता है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा उपायुक्त कार्यालय में शिकायत लेकर आने वाले हर व्यक्ति की शिकायत के निपटारे की निगरानी के लिए नई प्रणाली शुरू की गई है। गत जुलाई से अब तक प्राप्त 510 शिकायतों में से 351 शिकायतों का निपटारा किया जा चुका है तथा अन्य शिकायतों के निपटारे की प्रक्रिया जारी है।
उपायुक्त ने कहा कि जिला वासियों को जून 2018 तक विभिन्न विकास परियोजनाओं का लाभ मिलेगा, जिनमें कैथल से ग्योंग सड़क, चीका में शहीद उधम सिंह चौक के 2 किलोमीटर हिस्से का चार मार्गीकरण, गुहला में 12 करोड़ रुपए की लागत से निर्माणाधीन राजकीय महाविद्यालय का भवन, चीका एवं कलायत में विश्राम गृहों के भवन, कैथल में नवनिर्मित खेल परिसर शामिल हैं। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन का प्रयास होगा कि भैणी माजरा में स्थापित की गई कपिस्थल नंदीशाला को हरियाणा की मॉडल गऊशाला के रूप में विकसित किया जाए। जिला प्रशासन द्वारा भैणी माजरा के अतिरिक्त गुहला में भी समाज के सहयोग से नंदीशाला स्थापित की गई है। इन दोनों नंदीशालाओं में लगभग 2 हजार बेसहारा पशुओं को रखा गया है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन का पूरा प्रयास रहेगा कि नगर पालिका क्षेत्रों को बेसहारा पशुओं से मुक्त किया जा सके। उन्होंने कहा कि बेसहारा पशुओं को पकड़कर नदीशाला में छोडऩे की प्रक्रिया निरंतर जारी रहेगी।
उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा लोगों को बेहत्तर सुविधाओं प्रदान करने के लिए हरपथ एवं स्वच्छ एप शुरू की गई है। कोई भी व्यक्ति हरपथ एप के माध्यम से क्षतिग्रस्त सड़कों की फोटो अपलोड कर सकता है, जिसके बाद यह फोटो संबंधित विभाग के पास पहुंच जाती है। संबंधित विभाग द्वारा 30 दिन में क्षतिग्रस्त सड़क की मुरम्मत करके फोटो अपलोड करनी होती है। इसी प्रकार नगर परिषद क्षेत्र में सफाई के लिए स्वच्छ एप जारी की गई है। कोई भी व्यक्ति नगर परिषद क्षेत्र में कचरे का फोटो अपलोड करेगा तो वह फोटो संबंधित सफाई दरोगा के पास पहुंच जाती है। संबंधित सफाई दरोगा को 48 घंटे में कचरे को साफ करने के बाद फोटो अपलोड करनी होगी।
सुनीता वर्मा ने कहा कि जिला कैथल के लिए गर्व का विषय है कि जिला में 2017-18 का लिंगानुपात प्रथम बार 901 दर्ज किया गया है। वर्ष 2008 में यह लिंगानुपात 835 था तथा 2016 में 887 लिंगानुपात दर्ज किया गया था। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा पीएनडीटी एक्ट तथा एमटीपी एक्ट को सख्ती से लागू किया गया है तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा नियमित अंतराल पर रेड की जाती है। जिला प्रशासन द्वारा इसके अतिरिक्त सभी वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालयों, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों में ड्रॉप बॉक्स रखवाए गए थे, ताकि प्रसव पूर्व लिंग जांच एवं कन्या भ्रूण हत्या में संलिप्त व्यक्तियों की सूचना जिला प्रशासन को प्राप्त हो सके। इसके अतिरिक्त जिला में सबसे कम लिंगानुपात वाले गांवों पर जिला प्रशासन द्वारा विशेष सतर्कता बरती गई, जिसके परिणाम स्वरूप जिला का लिंगानुपात 901 तक पहुंच पाया है। उन्होंने कहा कि जिला वासियों के सहयोग से लिंगानुपात 930 तक पहुंचाने के लिए जिला प्रशासन द्वारा हर प्रयास किए जाएंगे।
पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी ने कहा कि कैथल प्रैस द्वारा हमेशा सकारात्मक पत्रकारिता की गई है तथा प्रैस प्रतिनिधियों द्वारा अपनी जिम्मेवारियों का भी सही निर्वहन किया है। जिला प्रशासन के दृष्टिकोण को प्रैस द्वारा हमेशा उचित जगह प्रदान की जाती है तथा प्रैस प्रतिनिधियों द्वारा हमेशा संतुलित खबरें ही प्रकाशित की जा रही हैं। प्रैस एवं प्रशासन में अच्छा तालमेल है तथा प्रैस का रवैया हमेशा सहयोगात्मक रहा है।
अतिरिक्त उपायुक्त कैप्टन शक्ति सिंह ने सभी प्रैस प्रतिनिधियों को नववर्ष की शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए कहा कि जिला में सभी प्रैस प्रतिनिधियों का दृष्टिकोण हमेशा सकारात्मक रहा है। पत्रकारिता में शब्दों का चयन काफी महत्वपूर्ण होता है और प्रैस प्रतिनिधियों द्वारा शब्दों के चयन में काफी सतर्कता बरती जाती है। उन्होंने मीडिया को प्रशासन एवं जनता के बीच सशक्त माध्यम बताते हुए कहा कि मीडिया द्वारा आम जन की परेशानियों को जिला प्रशासन तक पहुंचाकर उनका निदान करवाया जाता है तथा जिला प्रशासन की गतिविधियों एवं कल्याणकारी नीतियों को जनता तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की जाती है।
उपमंडलाधीश  कमलप्रीत कौर ने कहा कि वे जिला कैथल से लंबे समय से जुड़ी रही है तथा अब तक के उनके कार्यकाल में जिला कैथल की प्रैस सबसे सकारात्मक रही है। उन्होंने कहा कि देश के विकास में हर व्यक्ति का अपना योगदान होता है। मीडिया द्वारा जिला प्रशासन की हर कार्य को जनता तक पहुंचाने का कार्य हमेशा मीडिया ने किया है। नगराधीश  सुशील कुमार ने कहा कि कैथल जिला में सभी प्रैस प्रतिनिधियों द्वारा सकारात्मक पत्रकारिता की जा रही है। जनता की परेशानियों को प्रमुखता से उठाकर उनके निदान के लिए जिला प्रशासन तक पहुंचाया जाता है। जिला सूचना एवं जन संपर्क अधिकारी  रणधीर शर्मा ने कहा कि कैथल प्रैस द्वारा जिला प्रशासन की हर गतिविधि को अपने समाचार पत्रों एवं टीवी चैनलों में प्रमुखता दी है। जिला प्रशासन के पक्ष को सभी प्रैस प्रतिनिधियों द्वारा पूर्ण स्थान दिया जाता है तथा प्रशासन की गतिविधियों को जन-जन तक पहुंचाने में प्रैस प्रतिनिधियों द्वारा महत्वपूर्ण भूमिका अदा की है।
कैथल मीडिया क्लब के प्रधान सतीश सेठ ने जिला प्रशासन के सभी उच्चाधिकारियों का स्वागत करते हुए कहा कि जिला के लिए यह गर्व की बात है कि उच्चाधिकारियों की कर्मठ एवं सक्षम टीम मिली है। जिला की उपायुक्त  सुनीता वर्मा, पुलिस अधीक्षक आस्था मोदी तथा उपमंडलाधीश  कमलप्रीत कौर आदि महिला अधिकारियों द्वारा जिला में कानून व्यवस्था, लोगों की शिकायतों का निवारण आदि में काफी सुधार किया गया है। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था को बेहत्तर बनाने तथा शिकायत निवारण में जिला प्रशासन द्वारा नए आयाम स्थापित किए गए हैं। उन्होंने उच्चाधिकारियों को आश्वस्त किया कि जिला की प्रैस के सभी प्रतिनिधियों द्वारा जिला प्रशासन को भविष्य में भी पूर्ण सहयोग मिलता रहेगा तथा जनहित के मुद्दों को प्रमुखता से उठाकर उनके समाधान के लिए जिला की प्रैस हमेशा कार्य करेगी। मीडिया क्लब द्वारा उपायुक्त, पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त उपायुक्त, उपमंडलाधीश, नगराधीश, सीएमओ तथा जिला सूचना एवं जन संपर्क अधिकारी को स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।
वरिष्ठ संवाददाता प्रदीप हरित ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा शहर में अवैध कब्जों को छुड़वाने के लिए सराहनीय कार्य किया जा रहा है। साफ-सफाई पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। वरिष्ठ संवाददाता एवं क्लब के पूर्व प्रधान नवीन मल्होत्रा ने कहा कि उपायुक्त द्वारा लोगों को बेहत्तर सुविधाएं प्रदान करने के लिए की गई शुरूआत सराहनीय है। उपायुक्त ने समय-समय पर सफाई व्यवस्था के साथ-साथ अन्य जन सुविधाओं का निरीक्षण करके इन्हें दुरूस्त करवाया है। पुलिस अधीक्षक द्वारा भी कानून व्यवस्था के साथ-साथ असामाजिक तत्वों की गतिविधियों पर अंकुश लगाने की दिशा में बेहत्तर प्रयास किए हैं। क्लब के महासचिव ललित शर्मा ने मंच संचालन करते हुए अपनी शायरी से उपस्थितगण को बार-बार तालियां बजाने पर विवश किया।
इस मौके पर सिविल सर्जन डा. अशोक कुमार, क्लब के उप प्रधान जोगिंद्र कुंडु, कोषाध्यक्ष मनोज वर्मा, सह सचिव सुरेंद्र कुमार, क्लब के पूर्व प्रधान पंकज अत्रे, कुंज शर्मा, नसीब सैनी, रोहताश शर्मा, केदारनाथ, राजीव परूथी, विपिन शर्मा, जसविंद्र, सुरेंद्र सैनी, सतीश भराड़ा, सुनील जांगड़ा, विक्रम पुनिया, प्रदीप ढुल, राजु जगत, कमल बहल, राजेंद्र तंवर, रमेश तंवर, मोहित गुलाटी, मोहन नायक, अजय कुमार, विनोद मित्तल, वीरेंद्र पुरी, अनिल चौधरी, डा. रमन गुप्ता, रामकुमार नैन, महेश गोयल, राजकुमार अग्रवाल, राकेश कुमार, मनोज मलिक, रणधीर सिंह, राजेश सेठी, विक्रांत कुमार सहित प्रिंट एवं इलैक्ट्रोनिक मीडिया के संवाददाता एवं छायाकार मौजूद रहे।

You can leave a response, or trackback from your own site.

Leave a Reply