27.3 C
Kaithal
Sunday, September 26, 2021
Home Blog Page 160

रोहित की डबल सेंचुरी से सानिया की हैट्रिक तक, ये रहे 2014 के OMG पल

0

3518_omg-top-10 खेल डेस्क. ओह माय गॉड! अंग्रेजी भाषा का यह जुमला भारतीयों की जुबां पर चढ़ा हुआ है। 2014 में खेल के मैदान पर कई ऐसी घटनाएं हुईं कि फैन्स इसे बोलने के लिए मजबूर हो गए। कभी खिलाड़ियों के प्रदर्शन तो कभी हरकतों ने दर्शकों को हैरानी में डाला। क्रिकेट में रोहित शर्मा व कोरी एंडरसन और फुटबॉल में मारियो गोट्जी ने कुछ ऐसे धमाल किए कि देखने वाले सिर्फ एक ही शब्द कह सके – ओह माय गॉड! या शॉर्टकट में कहें तो – OMG weddingdressonlineshop!

वार्षिक राशिफल 2015

0

ज्योतिषानुसार भविष्य जानने का सबसे सटीक तरीका राशिफल होता है। माना जाता है कि राशिफल द्वारा जीवन की कई घटनाओं के विषय में आप पूर्वानुमान लगा सकते हैं। तो चलिए रफ्तार राशिफल 2015 (Rashifal 2015) के द्वारा आप भी जान लीजिए साल 2015 आपके लिए कैसा रहेगा। राशिफल 2015 (Rashifal 2015) के द्वारा आप अपने प्यार, व्यापार, कारोबार और स्वास्थ्य आदि के बारे में जान सकते हैं Robe De Mariée

स्वास्तिक क्यों बनाते हैं और इसकी पूजा से क्या लाभ मिलता है?

0

swastik-52d7a6bce6e96_exlविवाह, मुंडन, संतान के जन्म और पूजा पाठ के विशेष अवसरों पर स्वस्तिक का चिन्ह बनता है। स्वस्तिक की चार भुजाएं धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष की चारों पुरुषार्थ की प्रतीक है। मूलत: चारों भुजाएं, आयाम और विस्तार धर्म का ही फैलाव है। माना जाता है कि पंचतत्वों के, चावल, लाल डोरा, फूल, पान और सुपारी के साथ इसका पूजन करने से अपने आसपास शुभ और कल्याणकारी स्थितियां बनती हैं।

स्वतिक की पूजा के साथ स्वस्तिवाचन करने का विधान है। स्वस्तिवाचन में स्वस्ति मंत्रो की प्रेरणा यही है कि मंत्रपाठ से ही केवल हमारा हित नहीं हो सकता है। उस दिशा में आगे भी बढ़ना होगा। संकल्प और साहस का होना आवश्यक है।

स्वस्तिवाचन के मंत्रों में कहा गया है कि हम सबके हित में तो सोचें साथ ही अपनी बुद्धि और विवेक को भी दोषों से मुक्त करें। स्वस्तिवाचन के मंत्रों में सर्वस्थान कुषलता, मातृभूमि की रक्षा, उत्तम-कर्मों के प्रति प्रवृति और देवत्व की प्राप्ति की कामना की गई है । कहा गया है-हम सभी सुखी हों, सब निरोग हों, धर्म का पालन करने वाले बनें। हमारे चारों ओर भद्र हो, और हम सदा भद्रता से परिपूर्ण रहें।

यूं ही नहीं खास है साल की अंतिम एकादशी, जानिए क्या है इसका महत्व

0

vishnu-5491464cd03d7_exlstसाल की अंतिम एकादशी का नाम सफला एकादशी है। इस एकादशी का व्रत हर साल पौष मास में कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को किया जाता है। अपने नाम के अनुसार यह व्यक्ति को उनके उद्देश्य एवं कर्मों में सफलता दिलाने वाला है।

शास्त्रों और पुराणों के अनुसार मनुष्य का अंतिम उद्देश्य मोक्ष प्राप्ति है। इस एकादशी के व्रत से मोक्ष का मार्ग सरल होता है। पुराणों में बताया गया है कि जो व्यक्ति नियमपूर्वक सफला एकादशी का व्रत करता है और रात्रि जागरण करके विष्णु भगवान का ध्यान कीर्तन करता है उसे कलियुग में कई वर्षों तक तपस्या करने का पुण्य प्राप्त होता है।bröllopsklänning

पद्म पुराण में सफला एकादशी व्रत के महात्म्य को बताते हुए भगवान श्री कृष्ण ने युधिष्ठिर से कहा है कि सफला एकादशी व्रत के देवता श्री नारायण हैं। जो व्यक्ति सफला एकादशी के दिन व्रत रखकर भगवान विष्णु की पूजा अर्चना करता है। रात्रि में जागरण करते हुए ईश्वर का ध्यान और श्री हरि के अवतार एवं उनकी लीला कथाओं का पाठ करता है उनका व्रत सफल और मनोकामना पूर्ण करने वाला होता है।

क्या गैर हिंदू व्यक्तियों को हिंदू बनाना शास्त्र के अनुसार सही है?

0

conversion-54897f0c6357d_exlstआगरा के 37 मुसलिम परिवारों को धर्म परिवर्तन करवाकर हिंदू बनाए जाने का मामला सामने आने के बाद से यह सवाल उठने लगा है कि क्या यह शास्त्रों के अनुसार सही है?
क्या हिंदू धर्म और वेद पुराण इस बात की इजाजत देते हैं कि गैर हिंदू व्यक्ति धर्म परिवर्तन करके हिंदू बन सकता है या उन्हें किसी तरह हिंदू बनाया जा सकता है? इस बारे में धर्मशास्त्रियों का मत है कि शास्त्र में इस बारे में कुछ नहीं कहा गया है। इसलिए न इसे शास्त्र सम्मत कहा जा सकता है और न शास्त्र के विरूद्ध। लेकिन वे मानते हैं कि धर्म का चुनाव किसी भी व्यक्ति की इच्छा पर निर्भर करता है, इसमें किसी तरह का दबाव नहीं होना चाहिए। अलग-अलग धर्मशास्त्रियों ने अमर उजाला से कहा कि प्रलोभन देकर या लालच के द्वारा हिंदू बनाया जाना गलत है।हिंदू धर्म का सबसे पवित्र ग्रंथ ‘गीता’ जिसे भगवान श्रीकृष्ण के मुख से उत्पन्न हुआ माना जाता है उसमें कहा गया है कि जिसमें श्रद्धा और भक्ति नहीं हो और जो इस गीताशास्त्र में रुचि नहीं रखता हो उसे गीता का उपदेश नहीं देना चाहिए।

तब किसी व्यक्ति का धर्म परिवर्तन करवाकर हिंदू बनाना शास्त्रों के अनुसार किस तरह उचित है? गैर हिंदू व्यक्ति का धर्म परिवर्तन करवाकर हिंदू बनाए जाने को लेकर दिल्ली स्थित ध्यान आश्रम के धर्म गुरु ‘योगी अश्विनी’ का कहना है कि शास्त्रों में धर्म परिवर्तन कर हिंदू बनने के बारे में कुछ नहीं कहा गया है।

20 साल की सुपर मॉडल बनी बॉक्सर, पहली फाइट में ही चैम्पियन हुई ढेर

0

0428_paige-vanzantछरहरी काया, मासूम चेहरा और ना ही कोई गुस्सा। दिखने में नहीं, रियल की सुपर मॉडल। हजारों लोग उस वक्त दंग रह गए, जब 20 साल की सुपर मॉडल पेज वॉनजांट हाथों में फाइटिंग ग्लब्स पहनकर न केवल रिंग में उतरी, बल्कि मिक्स्ड मार्शल आर्ट्स (MMA) की चैम्पियन को अपने खूंखार पंचों से ढेर कर दिया।

कुछ ही घंटों में कमाए 31 लाख रुपए
दो बार की स्ट्रॉवेट चैम्पियन कैलिन कुरन जब फाइट के लिए रिंग में गईं तो उन्हें थोड़ा भी उम्मीद नहीं थी कि एक 20 बास साल की बिना अनुभव वाली कमसीन सुपर मॉडल उन पर भारी पड़ेगी। इस फाइट से वॉनजांट को 30,92,250 रुपए एक्स्ट्रा मिले।
मजाक-मजाक में की थी फाइट
पांच फीट चार इंच लंम्बी सुपर मॉडल वॉन ने बताया, “मेरे कोच ने मुझे एक फाइट ऑफर किया। उन्होंने मुझसे पूछा एक फाइट के बारे में तुम्हारा क्या ख्याल है। मुझे पता है तुम्हारे अंदर बहुत पोटेंशियल है। तुम आसानी से कर सकती हो। फिर क्या मैंने भी हां कर दी। इसके बाद सोचा क्यों न MMA में ही करियर कनाऊं। अब वैस ही किया।”

Popular Posts